Monday, July 15, 2024 at 11:40 PM

थाली में स्वाद का तड़का लगाने के लिए आसान तरह से तैयार करें 6 प्रकार की चटनी

जब भी बात भारतीय पकवानों की होती है तो मुंह में पानी आना तो स्वाभाविक है। भारत का खाना ऐसा है कि विदेशों से भी लोग यहां का स्वाद चखने के लिए भारत खिंचे चले आते हैं। यहां हर राज्य के खाने की अपनी अलग पहचान और खासियत है। खासतौर पर जब बात आती है भारतीय थाली की, तो उसमें चटनी का जिक्र होना सबसे अहम है। हम भारतीय खाने से लेकर नाश्ते तक के साथ चटनी का सेवन करते हैं।

अगर भोजन सादा भी हो, तो चटनी उसके स्वाद को कई गुना बढ़ा सकती है। एक समय था जब लोग हाथ से सिलबट्टे पर पीसकर चटनी बनाते थे। आज के समय में तो मिक्सी का इस्तेमाल करके कुछ मिनटों में भी चटनी बनाई जा सकती है। आज हम आपको 6 ऐसी चटनियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें आप थाली में परोसकर अपने खाने का स्वाद बढ़ा सकते हैं।

धनिया चटनी

इस मौसम में हरे धनिया की पत्तियां काफी आसानी से बाजार में मिल जाती हैं। ऐसे में आप घर पर ही धनिया पत्ती, हरी मिर्च, अदरक, नमक और नींबू के रस की मदद से इस चटनी को तैयार कर सकते हैं। यह चटनी काफी तीखी होती है।

पुदीने की चटनी

गर्मी में बाजार में पुदीना मिलता है, जो स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है। पुदीने की पत्तियों की चटनी बनाने के लिए आपको धनिया पत्ती, हरी मिर्च, और दही की भी जरूरत पड़ेगी। ये चटनी ताजगी का एहसास दिलाती है।

टमाटर की चटनी

खाने के साथ अगर आप टमाटर की चटनी परोसेंगे तो भोजन का स्वाद बढ़ जाएगा। ये चटनी टमाटर, प्याज, लहसुन, और मसालों से बनाई जाती है। यह चटनी खट्टी-मीठी होती है और विभिन्न प्रकार के स्नैक्स के साथ परोसी जाती है।

नारियल और मूंगफली की चटनी

इसे ज्यादातर दक्षिण भारत के पकवानों के साथ खाया जाता है। इसे मूंगफली, नारियल, हरी मिर्च, नमक और दही से तैयार किया जाता है। ये ज्यादा तीखी नहीं होती, जिस वजह से इसे बच्चे भी खाना पसंद करते है।

इमली की चटनी

इमली और गुड़ की ये चटनी खाने में खट्टी-मीठी होती है। इसे ज्यादातर चाट के साथ परोसा जाता है। आलू की टिक्की, दही बताशे, राज कचौड़ी और पकौड़ों के साथ भी इसे परोसा जाता है।

Check Also

सुबह खाली पेट किया जा सकता है काजू का सेवन, फायदे जान आप भी खाने लगेंगे

बात अगर ड्राई फ्रूट्स की करें, तो इसमें ज्यादातर लोगों को काजू सबसे ज्यादा पसंद …