Sunday, June 23, 2024 at 4:42 PM

‘किसी को बचाने का सवाल ही नहीं’, अमित शाह के बयान पर कर्नाटक के गृह मंत्री का पलटवार

कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर ने बुधवार को अपने एक बयान में कहा कि ‘कथित यौन उत्पीड़न मामले में किसी को बचाने का सवाल ही नहीं है।’ उन्होंने कहा कि कानून के मुताबिक कार्रवाई की जा रही है। दरअसल अमित शाह ने मंगलवार को कहा था कि यौन उत्पीड़न मामले में कर्नाटक की कांग्रेस सरकार पर सवाल उठाते हुए पूछा कि प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की? अमित शाह के इसी बयान पर जी परमेश्वर ने प्रतिक्रिया दी है।

एसआईटी कर रही जांच
पूर्व प्रधानमंत्री के पोते और विधायक एचडी रेवन्ना के बेटे प्रज्वल रेवन्ना पर महिलाओं के अश्लील वीडियो बनाने के मामले में शामिल होने का आरोप है। प्रज्वल मौजूदा लोकसभा चुनाव में कर्नाटक की हासन सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जहां बीते शुक्रवार को मतदान हुआ। कर्नाटक के गृह मंत्री ने बताया कि प्रज्वल रेवन्ना मामले की जांच के लिए बीती 28 अप्रैल को ही एसआईटी का गठन कर दिया गया था। एसआईटी ने मंगलवार को प्रज्वल रेवन्ना और उनके पिता एचडी रेवन्ना को नोटिस जारी किया है। यौन उत्पीड़न के मामले में जो शिकायत दर्ज हुई है, उसमें प्रज्वल रेवन्ना के साथ ही उनके पिता एचडी रेवन्ना का भी नाम है।

गृह मंत्री बोले- छोड़ेंगे नहीं
एसआईटी के नोटिस में प्रज्वल और एचडी रेवन्ना को एसआईटी के सामने पेश होने का आदेश दिया गया है। कर्नाटक के गृह मंत्री ने कहा कि ‘अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। जांच चल रही है और सभी तथ्यों को ध्यान में रखकर सीआरपीसी की धारा 41ए के तहत नोटिस जारी किया गया है। 24 घंटे के भीतर दोनों को एसआईटी के सामने पेश होना होगा, अगर दोनों पेश नहीं हुए तो उनके खिलाफ आगे की कार्रवाई की जाएगी।’ जी परमेश्वर ने कहा कि ‘हम कुछ नहीं कर रहे हैं, ये कहना गलत है। किसी को बचाने का सवाल ही नहीं है। कानून के मुताबिक कार्रवाई की जा रही है। इस मामले से कई लोगों का जीवन जुड़ा है, ऐसे में इस पर मनमाने तरीके से कार्रवाई नहीं की जा सकती।’

Check Also

पुलिस के कार्य को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए किया जाएगा एआई का उपयोग’, बोले देवेंद्र फडणवीस

मुंबई:  महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस आर्टिफिशियल इंटलीजेंस के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने शुक्रवार …