Wednesday, May 29, 2024 at 12:10 PM

ध्यान केंद्रित करने में होती है परेशानी? विशेषज्ञों ने बताया ऐसे बढ़ा सकते हैं मस्तिष्क की शक्ति

क्या आपको अपने काम पर ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होती है? किसी एक काम में ज्यादा देर तक मन नहीं लगता है? अगर हां तो सावधान हो जाइए, ये लक्षण फोकस से संबंधित समस्याओं का संकेत माने जाते हैं। काम पर फोकस न बन पाने के कारण कार्य की गुणवत्ता प्रभावित होने लगती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ बताते हैं, कई चिकित्सीय स्थितियां ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई पैदा कर सकती हैं। अगर आप अधिक चिंता-तनाव लेते हैं, अल्कोहल का अधिक सेवन करते हैं या फिर अनिद्रा जैसे विकारों के शिकार हैं तो भी आपको ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो सकती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं, अगर आपको फोकस की समस्या बिना किसी अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या के कारण है तो आपको लिए अच्छी खबर है। शोधकर्ताओं ने पाया कि आहार में कुछ प्रकार के बदलाव करके भी इसमें लाभ पाया जा सकता है। कुछ चीजों के सेवन की आदत मस्तिष्क की कार्यक्षमता को बढ़ाने और ध्यान केंद्रित करने में मददगार पाई गई है।

मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए दिनचर्या भी रखें ठीक

स्वास्थ्य विशेषज्ञ बताते हैं, मस्तिष्क हमारे पूरे शरीर का पावर हाउस है। अगर इसमें किसी तरह की कोई समस्या आती है तो इसका नकारात्मक असर संपूर्ण स्वास्थ्य पर हो सकता है। आहार में सुधार तो जरूरी है ही साथ ही दिनचर्या को ठीक रखना भी मस्तिष्क की सेहत को दुरुस्त रखने और काम पर अच्छी तरह से ध्यान केंद्रित करने के मददगार हो सकती है। इसके लिए जरूरी है कि आप शारीरिक तौर पर सक्रिय रहें, पर्याप्त नींद लें, सामाजिक संबंध अच्छे रखें और ध्यान वाले अभ्यास करें।आइए उन आहारों के बारे में जानते हैं जिनकी मदद से मस्तिष्क के कार्यों को बेहतर बनाने और काम पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिल सकती है।

आहार में जरूर होना चाहिए ओमेगा-3 फैटी एसिड

ओमेगा-3 फैटी एसिड को मस्तिष्क को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखने के लिए सबसे जरूरी माना जाता है। याददाश्त को ठीक रखने और काम पर फोकस बढ़ाने में भी इससे लाभ मिलने के प्रमाण हैं। आपके मस्तिष्क का लगभग 60% भाग वसा से बना है। ओमेगा-3 मस्तिष्क और तंत्रिका कोशिकाओं के निर्माण में प्रमुख भूमिका निभाता है, ये याददाश्त और सीखने की क्षमता में सुधार के लिए भी जाना जाता है। शोध यह भी इंगित करते हैं कि सैल्मन जैसी वसायुक्त मछली खाने से उम्र से संबंधित मानसिक स्वास्थ्य में गिरावट को रोकने और काम पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिल सकती है।

नट्स में भी होता है ओमेगा-3

तैलीय मछली की तरह, नट्स और सीड्स में भी उच्च स्तर का ओमेगा-3 फैटी एसिड और जरूर एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। ज्यादातर सूखे मेवे विटामिन-ई का भी एक समृद्ध स्रोत माने जाते हैं, जो मस्तिष्क को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाने में मददगार हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि नट्स के नियमित सेवन से उम्र से संबंधित स्मृति हानि का खतरा कम हो सकता है। दिमाग की शक्ति को बढ़ाने के लिए आहार में बादाम, अखरोट, हेजलनट्स और सूरजमुखी के बीज आदि को शामिल किया जा सकता है।

Check Also

धूप से त्वचा को बचाना है तो सनस्क्रीन लगाने का सही तरीका जान लें

मई-जून के महीने में पढ़ने वाली गर्मी से लोगों की हालत खराब हो जाती है। …