Thursday, May 23, 2024 at 3:00 PM

खरगे-रमेश को गडकरी के कानूनी नोटिस पर आई संजय राउत की प्रतिक्रिया, बोले- उन्हें फिर सोचना चाहिए…

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और पार्टी के महासचिव जयराम रमेश को भेजे गए कानूनी नोटिस पर शिवसेना (यूबीटी) नेता संजय राउत ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने नितिन गडकरी पर अपनी नाराजगी जताई है।

संजय राउत ने कहा, “किसानों को एमएसपी नहीं मिला, मुआवजा नहीं मिला और वे आत्महत्या कर रहे हैं। अगर नितिन गडकरी ने ऐसा कहा तो इसमें गलत क्या है। नितिन गडकरी झूठ नहीं बोलते हैं। वह वही बोलते हैं जो वह सोचते हैं। किसानों को खुले तौर पर देशद्रोही कहा गया। नितिन गडकरी को एक बार फिर से किसानों की स्थिति पर विचार करना चाहिए।”

महाराष्ट्र के मंत्री दादाजी भुसे और शिवसेना (एकनाथ शिंदे गुट) विधायक महेंद्र थोरबे के बीच हाथापाई पर संजय राउत ने इसे गैंगवॉर बताया है। उन्होंने कहा, “यह एक गैंग के भीतर गैंगवॉर है। विधानसभा में एक मंत्री और एक विधायक आपस में लड़ते हैं और देवेंद्र फडणवीस कहते हैं कि सब ठीक है। मैं आरएसएस को चिट्ठी लिखूंगा और उनसे पूछूंगा कि उनके लिए यही विकास की परिभाषा है? अगर हां तो मैं उन्हें इसे बदलने के लिए कहूंगा।”

क्या है मामला
गडकरी का आरोप है कि दोनों कांग्रसी नेताओं ने उनके बारे में एक्स पर भ्रामक और अपमानजनक समाचार सामाग्री साझा की है। गडकरी के वकील बालेंदु शेखर का कहना है कि उनके मुवक्किल कांग्रेस के आधिकारिक हैंडल से साझा की गई पोस्ट के बारे में जानकर हैरान रह गए। वकील ने बताया कि खरगे और रमेश ने जानबूझकर एक साक्षात्कार का आधा वीडियो शेयर किया, जिस वजह से उनके बयानों का अर्थ अलग हो गया है।

Check Also

प्रज्ज्वल का राजनयिक पासपोर्ट रद्द करने की मांग पर केंद्र ने नहीं दिया कोई जवाब, गृह मंत्री का आरोप

बंगलूरू: कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर ने बुधवार को कहा कि अश्लील वीडियो मामले में …