Friday, March 1, 2024 at 3:19 AM

रिपोर्ट में खुलासा- गणतंत्र दिवस पर भीड़ नहीं संभाल पाई दिल्ली पुलिस, बदइंतजामी से पैदल चले वीआईपी

कुछ दिन पहले भगत सिंह क्लब के सदस्यों ने संसद में घुसकर दिल्ली पुलिस की सुरक्षा की पोल खोल दी थी। अब गणतंत्र दिवस पर दिल्ली पुलिस की एक और नाकामी सामने आई है। इस राष्ट्रीय उत्सव के दौरान भी पुलिस भीड़ को नहीं संभाल पाई। स्थानीय पुलिस ने दो मार्ग बंद कर दिए तो हालत और ज्यादा खराब हो गए।

नतीजतन स्थानीय व ट्रैफिक पुलिस आमने-सामने आ गईं। बेकाबू हुए लोगों ने दिल्ली पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी। भीड़ को नहीं संभाल पाने के कारण देश के राष्ट्रपति के समधी समेत कई वीआईपी को मानसिंह मार्ग से समारोह स्थल तक पैदल जाना पड़ा। इसका खुलासा दिल्ली पुलिस द्वारा केंद्रीय गृहमंत्रालय को भेजी रिपोर्ट में हुआ है।

गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस बार गणतंत्र दिवस में शामिल होने के लिए काफी लोग आए थे। भीड़ को देखकर स्थानीय पुलिस ने कर्तव्यपथ स्थित समारोह की ओर जाने वाले मानसिंह मार्ग और मौलाना आजाद रोड को बेरिकेड लगाकर बंद कर दिया। इससे काफी संख्या में लोग बेरिकेड के पास एकत्रित हो गए और दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने काफी देर तक पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। दोनों मार्ग करीब 45-55 मिनट बंद रहे। इस कारण दोनों ही मार्गों में अव्यवस्था की स्थिति उत्पन्न हो गई। अधिकारियों के अनुसार, पुलिस ने दोनों मार्ग सुबह 8.31 बजे बंद कर दिए थे। इन दोनों की मार्गों को 9.16 बजे खोला गया।

मार्गों को बंद करने के कारण स्थानीय पुलिस और नई दिल्ली जिले की ट्रैफिक पुलिस में कई बार नोंक-झोक हो गई। ट्रैफिक पुलिस ने स्थानीय लोग से झगड़ा कर दोनों की मार्गों को खुलवाया गया। मार्ग खुलने के काफी देर बाद भीड़ नियंत्रित हो पाई। बताया जा रहा है कि इस कारण कारें पार्किंग तक नहीं जा पाई और कई मार्गों पर जबरदस्त जाम लगा। लचर व्यवस्था के कारण राष्ट्रपति के समधी समेत काफी लोगों से मानसिंह से रोड से पैदल जाना पड़ा। गणतंत्र दिवस वाले दिन अनियंत्रित हुई भीड़ के कारण दिल्ली पुलिस की कार्यप्रणाली पर काफी सवाल उठ रहे हैं।

एमओडी पर भी फोडा गया ठीकरा
गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गणतंत्र दिवस वाले दिन हुए हंगामे और वीआईपी के पैदल जाने को लेकर केंद्रीय गृहमंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट मांगी थी। दिल्ली पुलिस ने इस बाबत गृहमंत्रालय को रिपोर्ट भेज दी है। इस रिपोर्ट में डिफेंस मंत्रालय पर ठीकरा फोड़ा गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि डिफेंस मंत्रालय ने इस बार ज्यादा पास जारी कर दिए थे। इस कारण काफी संख्या में लोग गणतंत्र दिवस समारोह देखने पहुंच गए थे।

बीटिंग रिट्रीट वाले दिन गलती को दोहराने की हुई कोशिश
दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि 29 जनवरी को आयोजित हुई बीटिंग रिट्रीट के दौरान इस तरह की गलती करने की कोशिश हुई थी। स्थानीय पुलिस ने रफी मार्ग को बंद करने की कोशिश की थी, मगर ट्रैफिक पुलिस ने ऐसा नहीं होने दिया। वरना भीड़ एक बार फिर अनियंत्रित हो सकती थी।

Check Also

दिल्ली के इस रेलवे स्टेशन पर मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं, बेहतर होगी कनेक्टिविटी

राजधानी में एक और वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनेगा। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के समीप …