Tuesday, April 16, 2024 at 11:18 PM

आंखों की हल्की चोट-संक्रमण भी हो सकती है गंभीर, इस नाजुक अंग का कैसे रखें ख्याल?

आंखें शरीर के सबसे नाजुक और महत्वपूर्ण अंगों में से एक है, जिसकी आपको विशेष ख्याल रखने की जरूरत होती हैं। हालांकि समय के साथ आंखों में कई प्रकार की दिक्कतें बढ़ती जा रही है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं, आंखों को लेकर थोड़ी सी आसावधानी इसकी नाजुक मांसपेशियों को गंभीर क्षति पहुंचा सकती है, इससे आप अंधेपन के भी शिकार हो सकते हैं, इसलिए इस नाजुक अंग को लेकर विशेष सतर्कता बरतते रहना जरूरी है।

आंखों की कुछ बीमारियों, संक्रमण या फिर चोट के कारण आपको दर्द की समस्या महसूस होती रह सकती है। आंखों में दर्द के साथ आमतौर पर कई अन्य लक्षण जैसे आंखों की लालिमा, खुजली, और सूजन की दिक्कत भी हो सकती है। अगर आपको भी कुछ समय से इस तरह की कोई दिक्कत हो रही हो तो किसी विशेषज्ञ की सलाह जरूर ले लें। अगर आपको आंखों में दर्द है, तो उसे यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि समय रहते आप इसका इलाज प्राप्त करें।

आंखों में दर्द और संक्रमण

आंखों में दर्द, कुछ प्रकार की बीमारियों के कारण हो सकती है। कंजेक्टिवाइटिस (पिंक आई) इसका सबसे प्रमुख कारक है। इसके अलावा चोट की स्थिति के कारण भी आंखों की सतह क्षतिग्रस्त हो जाती है, जिससे दर्द हो सकता है। इंफेक्शन या प्रदूषण भी आंखों के लिए समस्याएं बढ़ाने वाली होती है। ये समस्याएं भले ही सामान्य हैं पर अगर इसपर ध्यान न दिया जाए या फिर डॉक्टरी सलाह से उपचार न किया जाए तो इससे आंखों की गंभीर बीमारी का खतरा भी बढ़ जाता है। अगर आपको भी कुछ समय से आंखों से संबंधित कोई समस्या हो रही है तो इसपर तुरंत ध्यान देना की जरूरत है।

क्यों होता है आंखों में दर्द?

आंखों में होने वाले दर्द के कई कारण हो सकते हैं। इसमें कुछ सामान्य और कुछ गंभीर मामले भी शामिल हैं। सामान्यतौर परदिनभर की मेहनत और थकान आंखों में अक्सर दर्द का कारण बन सकती है। इसके अलावा धूप में या अंधकार में अधिक समय बिताने से भी आंखों में सूजन और दर्द की दिक्कत बढ़ हो सकती है।

Check Also

नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि को लगाएं गुड़ की खीर का भोग

चैत्र नवरात्रि के सातवें दिन मांं कालरात्रि की पूजा की जाती है। ऐसा कहा जाता …