Sunday, June 23, 2024 at 11:23 PM

एंटी एजिंग फूड्स में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बीमारी को रोकने में हैं कारगर

एजिंग का असर सबसे पहले चेहरे पर दिखने लगता है। रिंकल्स, ड्राय स्किन , पिगमेंटेशन , ब्लेमिशेस जैसी स्किन प्रॉब्लम्स बढ़ती उम्र के साथ दिखना लाजमी है।

आजकल ये समस्याएं ऐज स्पेसिफिक न होकर बहुत कॉमन हो गई हैं। एक हेल्दी लाइफस्टाइल न फॉलो करना और केमिकल्सयुक्त चीजों का इस्तेमाल इसका मुख्य कारण है।

फ्री रेडिकल्स केमिकल अनस्टेबल कंपाउंड्स हैं जो बॉडी में सेल्स को नुकसान पहुंचाते हैं। सेल डैमेज एजिंग के कई लक्षणों का कारण है, जिसमें रिंकल्स, फाइन लाइन्स और सैगिंग स्किन शामिल है।

पपीता को अक्सर डाइजेशन के लिए अच्छा माना जाता है  इसमें कई तरह के एंटी ऑक्सीडेंट्स, विटामिन्स और मिनिरल्स पाए जाते हैं स्किन से रिंकल को हटाते हैं और स्किन में चमक लाते हैं। स्किन को हेल्दी रखने के लिए इसमें विटामिन ए, सी, के और ई मौजूद रहता है। पपीता में एक एंजाइम पेपेन पाया जाता है जिसमें एंटी एजिंग गुण होता है।

पालक के फायदे के बारे में हम सब जानते हैं। पालक स्वास्थ्य के लिए तो बेहतर होता ही है, इसमें एंटी एजिंग गुण भी पाया जाता है। इसमें विटामिन, ए, सी, ई और के पाया जाता है। इसके अलावा इसमें प्लांट बेस्ड आयरन भी पाया जाता है.

शिमला मिर्च जिस तरह खुद देखने में सुंदर लगती है उसी तरह इसका सेवन करने वालों के चेहरे पर भी हमेशा चमक रहती है। शिमला मिर्च में कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन सी और कॅरोटीनोइड्स भी पाए जाते हैं।

Check Also

युवाओं में इन दो वजहों से बढ़ रही हैं किडनी की बीमारियां, कहीं आप भी तो नहीं हैं शिकार?

किडनी की बीमारियों पर अगर समय रहते ध्यान न दिया जाए तो इसके जानलेवा दुष्प्रभाव …