Wednesday, July 6, 2022 at 6:22 PM

कोरोना का XE वेरिएंट क्या फिर देशभर के स्कूलों पर लगाएगा ताला, वैज्ञानिक ने बच्चों में संक्रमण को लेकर कहा ये…

राजधानी दिल्ली और एनसीआर में कोरोना के मामलों में एक बार फिर वृद्धि देखी जा रही है, ऐसे में अभिभावकों को अपने बच्चों को स्कूल भेजने को लेकर चिंता सता रही है, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने माता-पिता से बच्चों को स्कूल भेजने की चिंताओं को खारिज करने का आह्वान किया है.

भारत के शीर्ष जैव चिकित्सा वैज्ञानिकों में से एक डॉ. गगनदीप कांग ने कहा, ‘मुझे लगता है कि अगर आपको कोविड संक्रमण होना है तो इसके होने का सबसे अच्छा समय वह है जब आप एक स्वस्थ बच्चे हों। मूल रूप से, जो बच्चे संक्रमित होते हैं उनमें अधिकांश में लक्षण प्रकट नहीं होते हैं… हाल के सीरो सर्वेक्षणों से संकेत मिलता है कि 80 प्रतिशत बच्चे पहले ही संक्रमित हो चुके हैं।

उन्होंने कहा कि माता-पिता को संक्रमणों की संख्या नहीं बल्कि इस बात पर गौर करने की जरूरत है कि कितने बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अतिरिक्त जानकारी के अभाव में यह कहना गलत होगा कि कोरोना का XE वेरिएंट संक्रमण बढ़ते मामलों के लिए जिम्मेदार है.

उन्होंने कहा ओमिक्रॉन के बारे में हम जो जानते हैं, उनके अनुसार, यह ऐसा वायरस है जो निचले श्‍वसन तंत्र की तुलना में ऊपरी श्‍वसन तंत्र को प्रभावित करता है, ऐसे में जो लक्षण नजर आते हैं वे ऊपर श्‍वसन तंत्र में संक्रमण, बुखार और बेचैनी के होंगे. हालांकि आपको पहले की तरह गंभीर संक्रमण नहीं होगा कि आपको अस्पताल जाना पड़े.

Check Also

दुनिया के बाद अब चाँद को लेकर चल रही अमेरिका-चीन में भिडंत, ड्रैगन ने खड़ा किया ‘अधिग्रहण’ का सवाल

दक्षिण चीन सागर से लेकर लद्दाख तक दादागिरी दिखा रहे चीन के अंतरिक्ष में बढ़ते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *