Monday, March 4, 2024 at 8:15 AM

‘यह भयावह भाषा है…’, पीएम मोदी के खिलाफ मंत्री के आपत्तिजनक पोस्ट पर भड़के पूर्व राष्ट्रपति नशीद

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने मालदीव की एक मंत्री की पोस्ट पर कड़ी नाराजगी जाहिर की है। दरअसल इस पोस्ट में मालदीव की मंत्री मरियम शिउना ने पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया। इस पर मोहम्मद नशीद ने कड़ी आपत्ति जताई और एक पोस्ट के जरिए मंत्री की भाषा को भयावह बताया।

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति ने मंत्री के बयान की आलोचना की
मोहम्मद नशीद ने अपने पोस्ट में लिखा कि ‘मालदीव सरकार की मंत्री मरियम शिउना ने हमारे सहयोगी देश के नेता के खिलाफ भयावह भाषा का इस्तेमाल किया है, जबकि यह देश मालदीव की समृद्धि और सुरक्षा के लिए बेहद अहम है। राष्ट्रपति मोहम्मद मोइज्जु की सरकार को ऐसे बयानों से दूरी बरतनी चाहिए और भारत को यह बताना चाहिए कि ये बयान सरकार की नीति नहीं हैं।’ मोहम्मद नशीद भारत समर्थक नेता माने जाते हैं और वह साल 2008 में मालदीव के राष्ट्रपति चुने गए थे।

पीएम मोदी के लक्षद्वीप दौरे से छिड़ी बहस
पीएम मोदी हाल ही में लक्षद्वीप दौरे पर गए थे, जहां उन्होंने देशवासियों से लक्षद्वीप घूमने की अपील की। पीएम मोदी के दौरे के बाद सोशल मीडिया पर लक्षद्वीप की तुलना मालदीव से शुरू हो गई। भारत से हर साल बड़ी संख्या में लोग मालदीव घूमने जाते हैं। पीएम मोदी के दौरे के बाद कई सोशल मीडिया यूजर्स ने मालदीव की जगह लोगों से लक्षद्वीप घूमने की अपील की। इसके चलते भारत में सोशल मीडिया पर मालदीव ट्रेंड करने लगा। इसका असर मालदीव पर पड़ा और मालदीव की सरकार के मंत्री तुरंत मालदीव के समर्थन में आ गए, लेकिन समर्थन के चक्कर में वह भारत और पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने पर उतर आए हैं।

भारत और मालदीव के रिश्तों में आई कड़वाहट
मालदीव, भारत का पुराना सहयोगी देश रहा है, लेकिन बीती नवंबर में मालदीव के आम चुनाव में मोहम्मद मुइज्जु की जीत के बाद दोनों देशों के रिश्तों में थोड़ी बर्फ जमी है। मुइज्जु को चीन समर्थक माना जाता है और मुइज्जु ने राष्ट्रपति बनते ही मालदीव से भारत की सेना की वापसी का एलान कर दिया।

Check Also

ईरान के लोग आज चुनेंगे अपना राष्ट्रपति, 59 हजार मतदान केंद्रों पर वोटिंग शुरू

शिया मुस्लिम बहुल देश ईरान में एक मार्च यानी आज संसदीय चुनाव हो रहे हैं। …