Wednesday, August 17, 2022 at 9:08 AM

श्रीलंका में 60 लाख से अधिक लोगों के सामने पैदा हुआ ये संकट, सड़कों पर जारी हैं जनता का प्रदर्शन

श्रीलंका में आर्थिक संकट अपने चरम पर पहुंच गया है। महंगाई इतनी बढ़ गई है कि लोगों के खाने पर आफत आ गई है।दावा किया गया है कि ये स्थिति और खराब हो सकती है.श्रीलंका खाद्य के अलावा विदेशी मुद्रा संकट से भी गंभीर रूप से जूझ रहा है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम ने कहा है कि देश में 60 लाख से अधिक लोगों पर खाने का संकट मंडरा रहा है।आज श्रीलंका में संसद की विशेष बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में अगले राष्ट्रपति के चुनाव के लिए कार्यवाही शुरू की जाएगी।

श्रीलंका में जारी संकट के बीच ईंधन वितरण का नया तरीका निकाला गया है. इसके मुताबिक, आईडी कार्ड दिखाने पर एक सप्ताह में एक वाहन चालक को दो बार तेल दिया जाएगा.

20 जुलाई को नए राष्ट्रपति के चुने जाने की संभावना है। द्वीप राष्ट्र के इतिहास में यह पहली बार है कि राष्ट्रपति की नियुक्ति सांसदों द्वारा की जाएगी, न कि लोकप्रिय जनादेश द्वारा। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति गोतबाया ने देश छोड़ने के बाद इस्तीफे का एलान कर दिया है।

Check Also

क्या जल्द भारत चीन में शुरू होगा ‘महायुद्ध’ ? श्रीलंका पहुंचा ऐसा चीनी पोत जो चोरी छुपे करेगा भारत की जासूसी

भारत की आपत्ति के बावजूद चीनी शोध पोत युआन वांग-5 श्रीलंका के हंबनटोटा बंदरगाह पहुंच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *