Sunday, June 23, 2024 at 11:56 PM

राहुल बोले- अदाणी घोटालों की JPC जांच कराएगी INDI सरकार; 90% दलित-OBC आबादी को इज्जत नहीं ताकत चाहिए

नई दिल्ली:  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र में ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार बनने के एक महीने के भीतर अदाणी समूह से जुड़े घोटालों को संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराई जाएगी।  पार्टी के पूर्व अध्यक्ष ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार के तहत बड़ा कोयला घोटाला सामने आया है और इस घोटाले के माध्यम से पीएम के प्रिय मित्र’ ने कम गुणवत्ता वाले कोयले को तीन गुने दाम पर बेचकर हजारों करोड़ रुपये लूटे हैं, जिसकी कीमत आम जनता ने बिजली का महंगा बिल भरकर चुकाई है।

ब्रिटिश अखबार ‘फाइनेंशियल टाइम्स’ में प्रकाशित खबर का हवाला देते हुए कहा कि अदाणी समूह ने सार्वजनिक क्षेत्र के ‘तमिलनाडु जेनरेशन एंड डिस्ट्रीब्यूशन कॉरपोरेशन’ (टीएएनजीईडीसीओ) को कम गुणवत्ता वाला कोयला कहीं अधिक कीमत पर स्वच्छ ईंधन के रूप में बेचा। अदाणी समूह की ओर से इस पर कोई प्रतिक्रिया अभी नहीं आई है। हालांकि पूर्व में समूह ने ऐसे आरोपों का खंडन किया था। राहुल गांधी ने इस खबर को लेकर पोस्ट किया है।

90% आबादी दलित-ओबीसी को इज्जत नहीं, पावर चाहिए
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि पीएम कहते हैं कि उन्होंने दलित, ओबीसी और आदिवासी को इज्जत दी है, लेकिन हम ये कहते हैं कि इन्हें इज्जत नहीं, बल्कि पावर चाहिए। जिस दिन इनको सत्ता में भागीदारी मिली, उसी दिन से इनको इज्जत मिलनी शुरू हो जाएगी। ये कब तक चलेगा कि अमीर आदमी को गरीब इज्जत देगा। ऐसा भारत तो पहले राजा महाराजाओं के समय होता था। ये सिस्टम बंद होना चाहिए। 90 प्रतिशत इस आबादी को उनका हक दिलाने के लिए राजनीतिक लक्ष्य नहीं, बल्कि जीवन का मिशन बन गया है और अब वे इसे छोड़ने वाले नहीं हैं। इंडिया गठबंधन की सरकार आने पर इस आबादी को सत्ता में भागीदारी दी जाएगी।

राहुल पंचकूला में आयोजित संविधान सम्मान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। राहुल ने पीएम मोदी, अडानी और अंबानी को निशाने पर रखा। उन्होंने कहा, कुछ लोग संविधान को बदलने की मंशा रखते हैं, लेकिन हम चेताना चाहते हैं कि भारत ही नहीं दुनिया में ऐसी कोई ताकत नहीं है, जो इस संविधान को छू सके।

संविधान से छेड़छाड़ तो देश की जनता करेगी इंसाफ
राहुल ने कहा कि संविधान सिर्फ एक किताब नहीं, बल्कि संविधान को अगर गहराई से देखें तो यह ट्रांसफर ऑफ पावर दस्तावेज है। जिन नियमों का सैकड़ों साल पुराने गुरुनानक देव जी, गौतम बुद्ध, भीम राव आंबेडकर ने पालन किया है, उनके बेसिक और हर वर्ग को ध्यान में रखकर संविधान तैयार किया गया है। इसमें छेड़छाड़ करने वालों के साथ देश की 90 फीसदी जनता इंसाफ करेगी। उन्होंने कहा नरेंद्र मोदी और आरएसएस का ग्राफ धीरे-धीरे ऊपर उठा है, नीचे कब आएगा, उन्हें भी पता ही नहीं चलेगा।

Check Also

बिहू से कमाए पैसे को महिला ने चाय के स्टॉल में किया निवेश; सीएम सरमा बने ग्राहक, ली चाय की चुसकी

गुवाहटी:  असम में एक युवा महिला रिकॉर्ड सेटिंग बिहू प्रदर्शन में कमाए गए पैसे से …