Wednesday, May 29, 2024 at 12:13 PM

‘विपक्ष में कोई भी मोदी की बराबरी नहीं कर सकता’, प्रधानमंत्री के मुरीद हुए भारतीय-अमेरिकी व्यवसायी

नई दिल्ली:  भारतीय अमेरिकी व्यवसायी और परोपकार के काम करने वाले एक बिजनेसमैन का कहना है कि भारत में पीएम मोदी एकमात्र नेता हैं, जो भविष्य की बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष में कोई भी नहीं है, जो पीएम मोदी की गतिशीलता की बराबरी कर सके। एक इंटरव्यू में भारतीय अमेरिकी बिजनेसमैन सुरेश वी शेनॉय ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी आ रही है और देश में अवसरों की भरमार है।

‘मोदी ही भविष्य की बात कर रहे’
सुरेश वी शेनॉय ने कहा कि ‘मुझे लगता है कि भारतीय चुनाव में मोदी ही एक मात्र ऐसे व्यक्ति हैं, जो भविष्य की बात कर रहे हैं। वह इस बारे में बात कर रहे हैं कि भविष्य की तकनीक किस तरह से लागू की जाएगी। मैं हिंदुत्व के लिहाज से ये बात नहीं कर रहा हूं क्योंकि ये एक नैरेटिव है लेकिन बीते 10 वर्षों में भारत ने आर्थिक मोर्चे पर काफी उपलब्धि हासिल की है और ये कमाल की है। अब वे दुनिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हैं।’

सुरेश वी शेनॉय खुद आईआईटी से पढ़े हैं और आज एक सफल बिजनेसमैन हैं। उन्होंने कहा कि ‘भारत में अभी भी 80 करोड़ वंचित लोग हैं, लेकिन इनकी भी आकांक्षाएं हैं। ऐसे में भारत एक बड़ी आबादी है और यहां अवसरों की भरमार है, जब कि दुनियाभर में जनसंख्या सिकुड़ रही है। भारत अवसरों और भविष्य के बारे में है, लेकिन यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आप अवसरों को कैसे भुनाते हैं? अमेरिका में समृद्धि है और वैश्विक नेतृत्व है और वहां इस बात की चर्चा है कि वे कैसे इसे बनाए रखें।’ शेनॉय ने पूछा कि ‘अमेरिका में कितने राजनेताओं ने भविष्य की बात की और 2028 या 2032 की बात की? वो बस आज की बात कर रहे हैं।’

‘विपक्ष पीएम मोदी की गतिशीलता की बराबरी नहीं कर पा रहा है’
शेनॉय ने कहा ‘अगर आप एक नेता हैं तो आपको लोगों को भविष्य दिखाना आना चाहिए कि आज से 10 साल बाद क्या होगा। भारत की राजनीति की बात करें तो विपक्ष कोशिश कर रहा है, लेकिन मुझे लगता है कि वह पीएम मोदी की गतिशीलता की बराबरी नहीं कर पा रहे हैं। मेरा मतलब है कि पीएम मोदी आज से चार साल या आठ साल बाद की जिंदगी की बात कर रहे हैं और नेतृत्व की बात कर रहे हैं। यहां तक कि उनका जी20 के दौरान एक दुनिया और एक परिवार का संदेश भी लोगों को खूब पसंद आया था। अब पूरी दुनिया को भी उनकी तरह सोचना होगा।’

Check Also

30 मई को चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद कन्याकुमारी जाएंगे पीएम मोदी, रॉक मेमोरियल में लगाएंगे ध्यान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को लोकसभा चुनाव प्रचार के समाप्त होने के बाद कन्याकुमारी …