Wednesday, May 29, 2024 at 12:02 PM

कैंसर कारक इस रसायन के उपयोग पर लगा प्रतिबंध, शोधकर्ता बोले- लिवर कैंसर का बढ़ रहा था खतरा

हमारे दैनिक जीवन में प्रयोग में लाई जाने वाली कई चीजों के इस्तेमाल को गंभीर रोगों का कारक पाया गया है। अध्ययनों के मुताबिक बच्चों के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले डाइपर से लेकर, सनस्क्रीन और कुछ प्रकार की क्रीम में ऐसे हानिकारक तत्व हो सकते हैं जिनसे कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा रहता है। इसी तरह के मामले में वैज्ञानिकों ने बताया कि कुछ पेंट स्ट्रिपर में मेथिलीन क्लोराइड जैसे हानिकारक तत्व पाए गए हैं जिनके संपर्क को कैंसर के खतरे का कारण पाया गया है। अमेरिका की पर्यावरण संरक्षण एजेंसी (ईपीए) ने मंगलवार को मेथिलीन क्लोराइड के उपयोग को प्रंतिबंधित कर दिया है।

मेथिलीन क्लोराइड को पेंट स्ट्रिपर उत्पादों के रूप में कई देशों में इस्तेमाल किया जा रहा है। अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि इससे लिवर कैंसर और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा हो सकता है। ईपीए ने कहा कि इस रसायन पर लगे प्रतिबंध से पेंट का काम करने वाले लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी।

हानिकारक तत्वों पर प्रतिबंध

गौरतलब है कि राष्ट्रपति जो बिडेन के प्रशासन द्वारा टॉक्सिक सब्सटांस कंट्रोल एक्ट के तहत मेथिलीन क्लोराइड पर प्रतिबंध लगाने की बात की गई थी। इससे पहले पिछले महीने ही क्लोरीन ब्लीच, ब्रेक पैड और अन्य उत्पादों में उपयोग किए जाने वाले एस्बेस्टस पर भी प्रतिबंध लगाया जा चुका है। रिपोर्ट्स के मुताबिक एस्बेस्टस के संपर्क में आने के कारण हर साल हजारों अमेरिकियों की मौत हो जाती थी।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ?

ईपीए के प्रशासक माइकल रेगन ने एक बयान में कहा, “मेथिलीन क्लोराइड के संपर्क ने देशभर में लंबे समय से कई परिवारों को तबाह कर दिया है, जिनमें कुछ ऐसे भी शामिल हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को काम पर जाते देखा और वो कभी घर नहीं आए। उन्होंने कहा, नया नियम असुरक्षित मेथिलीन क्लोराइड को समाप्त करता है साथ ही यह सुनिश्चित करता है कि इस खतरनाक रसायन से देश में किसी भी नागरिक को नुकसान न हो।

Check Also

धूप से त्वचा को बचाना है तो सनस्क्रीन लगाने का सही तरीका जान लें

मई-जून के महीने में पढ़ने वाली गर्मी से लोगों की हालत खराब हो जाती है। …