Monday, July 15, 2024 at 11:32 PM

गुजरात में भाजपा सांसद-आप विधायक के बीच बहसबाजी, MLA पर सरकारी अधिकारी को धमकाने का आरोप

गुजरात में भाजपा नेता और आप नेता के बीच जमकर बहसबाजी हो गई। बहसबाजी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। घटना, नर्मदा जिले के डेडियापाड़ा इलाके की है। पुलिस ने बताया कि भरूच से भाजपा सांसद मनसुख वसावा ने डेडियापाड़ा के आप विधायक चैतर वसावा पर सरकारी अधिकारी को धमकाने का आरोप लगाया। इसी वजह से आप विधायक भड़क गए। दोनों नेता इस दौरान अपने-अपने समर्थकों के साथ थे। पुलिस ने स्थिति को संभालने के लिए हस्तक्षेप किया।

सांसद के एक्स पोस्ट से शुरू हुआ विवाद
पुलिस उपाधीक्षक लोकेश यादव ने बताया कि दोनों नेताओं के समर्थकों ने बाद में एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। शिकायतों के आधार पर जांच की जा रही है। पूरा बखेड़ा शुक्रवार शाम को शुरू हुआ, जब भाजपा सांसद ने एक्स पर पोस्ट किया और कहा कि आप विधायक डेडियापाड़ा तालुका विकास अधिकारी को धमका रहे हैं। इसलिए वह तुरंत टीडीओ कार्यालय पहुंच रहे हैं। उन्होंने दूसरे तालुका पंचायत सदस्यों को भी कार्यालय पहुंचाने के लिए कहा। उन्होंने एक्स पर ही कहा कि सरकारी कर्मचारी को घबराने की आवश्यकता नहीं है। सरकार आपके साथ है।

माहौल खराब करने की कोशिश मत करें
हालांकि, जब मनसुख अपने समर्थकों के साथ टीडीओ कार्यालय पहुंचे तो आप कार्यकर्ताओं से उनका आमना सामना हुआ। दोनों की इस मुद्दे पर बहस हो गई। वीडियो में चैतर कह रहे हैं कि अगर मैंने किसी को धमकाया है तो सबूत के साथ शिकायत दर्ज करें। हमारे यहां का माहौल खराब करने की कोशिश मत करें। इस पर भाजपा सांसद ने कहा- यह मेरा लोकसभा क्षेत्र है। मैं यहां आया हूं क्योंकि आपने अधिकारी को धमकाया है। यहां आना मेरा कर्तव्य है। घटना के बारे में सांसद ने कहा कि मैं तो सिर्फ 10 से 15 समर्थक के साथ आया था पर आप विधायक सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचे थे। आप बताएं कौन झगड़ा में पड़ना चाहता है।

गुजरात में भाजपा नेता और आप नेता के बीच जमकर बहसबाजी हो गई। बहसबाजी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। घटना, नर्मदा जिले के डेडियापाड़ा इलाके की है। पुलिस ने बताया कि भरूच से भाजपा सांसद मनसुख वसावा ने डेडियापाड़ा के आप विधायक चैतर वसावा पर सरकारी अधिकारी को धमकाने का आरोप लगाया। इसी वजह से आप विधायक भड़क गए। दोनों नेता इस दौरान अपने-अपने समर्थकों के साथ थे। पुलिस ने स्थिति को संभालने के लिए हस्तक्षेप किया।

सांसद के एक्स पोस्ट से शुरू हुआ विवाद
पुलिस उपाधीक्षक लोकेश यादव ने बताया कि दोनों नेताओं के समर्थकों ने बाद में एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। शिकायतों के आधार पर जांच की जा रही है। पूरा बखेड़ा शुक्रवार शाम को शुरू हुआ, जब भाजपा सांसद ने एक्स पर पोस्ट किया और कहा कि आप विधायक डेडियापाड़ा तालुका विकास अधिकारी को धमका रहे हैं। इसलिए वह तुरंत टीडीओ कार्यालय पहुंच रहे हैं। उन्होंने दूसरे तालुका पंचायत सदस्यों को भी कार्यालय पहुंचाने के लिए कहा। उन्होंने एक्स पर ही कहा कि सरकारी कर्मचारी को घबराने की आवश्यकता नहीं है। सरकार आपके साथ है।

माहौल खराब करने की कोशिश मत करें
हालांकि, जब मनसुख अपने समर्थकों के साथ टीडीओ कार्यालय पहुंचे तो आप कार्यकर्ताओं से उनका आमना सामना हुआ। दोनों की इस मुद्दे पर बहस हो गई। वीडियो में चैतर कह रहे हैं कि अगर मैंने किसी को धमकाया है तो सबूत के साथ शिकायत दर्ज करें। हमारे यहां का माहौल खराब करने की कोशिश मत करें। इस पर भाजपा सांसद ने कहा- यह मेरा लोकसभा क्षेत्र है। मैं यहां आया हूं क्योंकि आपने अधिकारी को धमकाया है। यहां आना मेरा कर्तव्य है। घटना के बारे में सांसद ने कहा कि मैं तो सिर्फ 10 से 15 समर्थक के साथ आया था पर आप विधायक सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचे थे। आप बताएं कौन झगड़ा में पड़ना चाहता है।

Check Also

90 वर्षीय अर्थशास्त्री बोले- नोबेल के बिना जिंदगी बर्बाद नहीं होती; बची उम्र पढ़कर गुजार दूंगा

मुझे नहीं लगता कि नोबेल नहीं मिला होता तो मेरी जिंदगी बर्बाद होती। जिंदगी में …