Saturday, July 20, 2024 at 9:52 AM

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आए मेहमानों को मिला उपहार स्वरूप धातु का दीया-माला, …और भी बहुत कुछ

राम नगरी अयोध्या में भव्य समारोहों के बीच नवनिर्मित मंदिर में रामलला की नई मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई। इस अनुष्ठान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अभिनेता अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, विक्की कौशल, कैटरीना कैफ, अरुण गोविल, पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, रविशंकर प्रसाद और उद्योगपति अनिल अंबानी और कई अन्य लोग शामिल हुए। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने पहले कहा था कि मेगा समारोह में 7,000 से अधिक मेहमानों को आमंत्रित किया गया था।

अभिनेता अनुपम खेर, मनोज जोशी, गायक कैलाश खेर, जुबिन नौटियाल, गीतकार प्रसून जोशी भी यहां जल्दी पहुंचने वाले मेहमानों में शामिल थे। रविवार को हेमा मालिनी, कंगना रनौत, श्री श्री रविशंकर, मोरारी बापू, रजनीकांत, पवन कल्याण, मधुर भंडारकर, सुभाष घई, शेफाली शाह और सोनू निगम अयोध्या पहुंचे थे। कार्यक्रम स्थल पर अतिथियों का स्वागत मंदिर परिसर की जीवंत पुष्प सजावट से किया गया।

सूत्रों ने बताया कि मेहमानों को वस्तुओं का एक विशेष सेट उपहार में दिया गया है, जिसमें अयोध्या पर एक किताब, एक धातु की ‘दीया’, एक तुलसी ‘माला’ और भगवान राम के नाम वाला एक दुपट्टा शामिल है। पुस्तक का शीर्षक ‘अयोध्या धाम- द लॉर्ड्स एबोड’ है, जिसके कवर पर रामलला की पुरानी मूर्ति की छवि भी है। ‘माला’ एक कपड़े की थैली लेकर आई है, जिस पर ‘उत्तर प्रदेश पर्यटन’ और इसकी टैगलाइन लिखी है। मेहमानों को चार लड्डू, चिप्स, रेवड़ी, काजू और किशमिश का डिब्बा भी मिला है।

धार्मिक उत्साह ने अयोध्या को जकड़ लिया है और कड़कड़ाती ठंड उन लोगों के उत्साह को कम नहीं कर पाई है, जो इस ऐतिहासिक क्षण का गवाह बनने के लिए यहां आए हैं। इस भव्य मंदिर का निर्माण पारंपरिक नागर शैली में किया गया। इसकी लंबाई (पूर्व-पश्चिम) 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट और अंततः 161 फीट (शिखर) हो जाएगी। यह 392 स्तंभों पर आधारित है और इसमें 44 दरवाजे हैं। मंदिर के स्तंभों और दीवारों पर हिंदू देवी-देवताओं और देवी-देवताओं के जटिल चित्रण प्रदर्शित हैं। रामलला की नई मूर्ति को मंदिर के भूतल पर गर्भगृह में रखा गया है।

Check Also

आज रात से बरेली में प्रवेश नहीं करेंगे भारी वाहन, छोटे वाहनों का भी बदला मार्ग

बरेली: सावन में कांवड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर बरेली शहर के मुख्य मार्गों पर यातायात व्यवस्था …