Sunday, June 23, 2024 at 10:54 PM

CDF के तहत पहले भारतीय मूल के किशोर का हुआ कैंसर का इलाज, युवान बोला- CAR-T थेरेपी ने बदल दी किस्मत

ब्रिटेन की राज्य वित्त पोषित राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा द्वारा स्थापित कैंसर ड्रग्स फंड की बदौलत मिले उपचार के बाद कैंसर से पीड़ित भारतीय मूल के किशोर युवान ठक्कर ने कहा कि अब वह उन चीजों का आनंद ले पा रहे हैं, जो उन्हें पसंद है। गौरतलब है कि इस व्यवस्था से हजारों रोगियों के लिए नवीन उपचारों को सुलभ बनाना।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) ने इस सप्ताह के अंत में कैंसर ड्रग्स फंड (सीडीएफ) की मदद से नवीनतम और सबसे नवीन उपचारों तक शीघ्र पहुंच से 100,000 रोगियों को लाभान्वित करने का एक मील का पत्थर साबित हुआ है। इसके तहत इलाज करा चुके युवान ठक्कर ने कहा कि सीएआर टी थेरेपी मिलने के बाद से मेरा जीवन पूरी तरह से बदल गया है। भारतीय मूल के किशोर ने लंदन में ग्रेट ऑरमंड स्ट्रीट हॉस्पिटल (जीओएसएच) को अविश्वसनीय देखभाल के लिए धन्यवाद दिया।

कैंसर के कारण मैं खेल नहीं पाता था- ठक्कर
युवान ठक्कर ने कहा कि मुझे याद है इस बीमारी के लिए मुझे कई बार अस्पताल के चक्कर लगाने पड़े, जिसके कारण मैं स्कूल भी नहीं जा पाता था। हालांकि इस थेरेपी ने मेरी जिंदगी पूरी तरह से बदल दी है। जिसके बाद से मेरा जीवन पूरी तरह से बदल दिया है। अब मैं दोस्तों से मिल सकता हूं, उनके साथ खेल सकता हूं और मैं अपने परिवार के साथ छुट्टियों पर जा सकता हूं। पहले इस सब की कल्पना करना मेरे लिए बेहद कठिन था।

परिवार को जीवन में दूसरा मौका मिला- सपना
युवान की मां सपना ने अपने बच्चे के सफल इलाज पर कहा कि इलाज की सफलता के बाद परिवार को जीवन में दूसरा मौका मिला है। कैंसर ड्रग्स फंड (सीडीएफ) के माध्यम से उपलब्ध फास्ट-ट्रैक पहुंच के बिना सपना ने कहा कि उनके बेटे के लिए जीवन रक्षक उपचार प्राप्त करने का कोई अन्य तरीका नहीं हो सकता है।

Check Also

11 महीने बाद आवाजाही के लिए खुला बाल्टीमोर बंदरगाह, मालवाहक जहाज के टकराने से ध्वस्त हुआ था पुल

अमेरिका के प्रमुख बंदरगाहों में से एक बाल्टीमोर में 11 सप्ताह पहले एक मालवाहक जहाज …