Monday, July 15, 2024 at 11:49 PM

पावर कट और ट्रैफिक जाम पर अफसरों की तय होगी जिम्मेदारी, बकरीद को लेकर दिए ये निर्देश

वाराणसी :  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शहर में पावर कट, ट्रैफिक जाम और निर्माणाधीन परियोजनाओं में लेटलतीफी पर जवाबदेही तय होगी। काशी की गरिमा को ध्यान में रखते हुए प्रशासन एवं जनप्रतिनिधि समन्वय बनाकर कार्य करें। मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ विकास एवं कानून एवं शांति व्यवस्था की समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर बारीक नजर रखें। भ्रामक खबरों पर सख्ती बरतें। पीआरवी एवं पिकेट की तैनाती प्रभावी तरीके से करें, ताकि महिलाएं एवं आमजन पूरी तरह भयमुक्त होकर आवागमन कर सकें। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित हो, किसी दशा में पावर कट न हो। अन्यथा जवाबदेही तय की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने निर्माणाधीन परियोजनाओं को समय से पूरा करने के लिए हर स्तर पर जवाबदेही सुनिश्चित करने को कहा। प्रत्येक निर्माणाधीन परियोजना के लिए जनपद स्तर पर नोडल अधिकारियों नामित किया जाए। जो समय-समय पर उसकी प्रगति एवं गुणवत्ता की मॉनीटरिंग करे। सभी कार्यदायी एजेंसियों से कार्य की गुणवत्ता तथा समयावधि का ध्यान रखने को कहा। सभी गतिमान परियोजनाओं पर मैन पावर की उचित व्यवस्था कराकर कार्य में तेजी लाएं। शहर में सुगम यातायात व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए ट्रैफिक जाम की समस्या के समुचित समाधान करने के साथ ही इसके लिए जवाबदेही सुनिश्चित करें।

बकरीद पर कराएं विशेष साफ सफाई
बैठक में मुख्यमंत्री ने बकरीद त्योहार से पूर्व और बाद में नगर निगम को विशेष साफ-सफाई की व्यवस्था करने की हिदायत दी। त्योहार एवं स्वच्छता के दृष्टिगत वरुणा नदी की साफ-सफाई के लिए नगर निगम और सिंचाई विभाग को जिम्मेदारी दी। कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की समस्या के समाधान के लिए पाइप पेयजल योजनाओं के कार्यों में तेजी लाएं। त्योहार एवं प्रधानमंत्री के आगमन के दृष्टिगत पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती के निर्देश दिये।

कॉलोनियों और मोहल्लों का रखें ध्यान
बैठक में जिलाधिकारी एस. राजलिंगम ने मुख्यमंत्री को जिले में निर्माणाधीन कुल 63 परियोजनाओं के प्रगति की जानकारी दी। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि काशी कनेक्टिविटी की परियोजनाओं में संबंधित कार्यदायी एजेंसियां केवल चार लेन सड़क के निर्माण कार्य ही नहीं, बल्कि अगल-बगल की कॉलोनियों एवं मोहल्लों का भी ध्यान रखते हुए मानक अनुसार निर्माण कार्य कराएं। नालियों एवं चैम्बर को ढककर रखें, ताकि फुटपाथ के रूप में जनता इस्तेमाल कर सके।

सीएम की बैठक में ये भी रहे शामिल
बैठक में प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर, स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, आयुष एवं खाद्य सुरक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. दयाशंकर मिश्र दयालु, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, महापौर अशोक तिवारी, एमएलसी हंसराज विश्वकर्मा, एमएलसी अश्वनी त्यागी आदि मौजूद रहे।

Check Also

आरक्षण के मुद्दे को और धार देगी कांग्रेस, अगस्त से शुरू होगा आंदोलन, भर्तियों के जुटाए जा रहे सुबूत

लखनऊ:  कांग्रेस आरक्षण के मुद्दे को निरंतर धार देगी। इसके लिए पार्टी शैक्षिक एवं चिकित्सा …