Wednesday, August 17, 2022 at 9:21 AM

उत्तराखंड: हल्द्वानी और पर्वतीय क्षेत्रों में जलभराव और नदियों के उफान से बढ़ी लोगों की मुसीबत

उत्तराखंड में पर्वतीय क्षेत्रों के बाद अब तराई और भाबर में भी बारिश ने दस्तक दे दी है।  देहरादून, हरिद्वार, रुड़की, नैनीताल, हल्द्वानी, मसूरी, विकासनगर, रुद्रपुर आदि शहरों में बारिश हुई। बारिश के कारण टिहरी झील का जलस्तर लगातार बढ़ने लगा है। शुक्रवार को जलस्तर आरएल 757.35 मीटर पहुंचा। दूसरी ओर बारिश से उत्तराखंड की में 195 मोटर मार्ग बंद हैं।

भीषण गर्मी और उमस झेल रहे लोगों को बारिश ने काफी हद तक राहत तो पहुंचाई है। बारिश के बाद जलभराव और नदियों के उफान पर आने की वजह से लोग घबराए हुए हैं।  हल्द्वानी और आसपास के क्षेत्रों में पर्वतीय क्षेत्रों की बारिश का अधिक असर देखने को नहीं मिला था। सोमवार देर रात से मौसम अचानक खराब हुआ और मंगलवार तड़के जबरदस्त मूसलाधार बारिश हुई।

मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू की ओर से बृहस्पतिवार को जारी आदेश में कहा गया कि मैदानी मार्गों के मुकाबले पर्वतीय मार्गों पर सड़क हादसों में ज्यादा जनहानि हो रही है। बरसात शुरू होने के साथ ही तमाम सड़कों को भी नुकसान होने लगा है।

वॉकवे नाला चोक होने से नैनीताल रोड पर भी जलभराव देखने को मिला। वहीं, तिकोनिया में भी बारिश के पानी के साथ मलबा आने से लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। विभाग की ओर से विभिन्न जिलों में 113 राजस्व बाढ़ चौकियों की स्थापना की गई है। बाढ़ चौकियों के माध्यम से ग्रामीणों को चेतावनी पहुंचाने की व्यवस्था की गई है।

Check Also

महेंद्र भट्ट के तिरंगे वाले बयान पर बढ़ी सियासत, कांग्रेस कार्यकर्ता ने बीजेपी नेता के खिलाफ दी तहरीर

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के हर घर तिरंगे के लेकर दिए बयान पर बवाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *