Monday, April 22, 2024 at 11:37 AM

गांव महोत्सव के दूसरे दिन कलाकारों ने खूब झुमाया, महिलाओं का सम्मान, कार्यक्रम को मिली सराहना

जौनपुर:  अमर उजाला की ओर से जौनपुर के बीआरपी मैदान में आयोजित तीन दिवसीय गांव महोत्सव के दूसरे दिन भी कलाकारों ने सभी को खूब झुमाया। सभी ने एक से बढ़ कर एक प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में आए मुख्य अतिथियों ने 25 शिक्षक, 5 आशा कार्यकर्ता व 5 स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया।

गांव महोत्सव कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्व कैबिनेट मंत्री व जफराबाद विधायक जगदीश नारायण राय व पूर्वांचल विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. वंदना सिंह ने दीप प्रज्वलित कर किया। इसके बाद प्रसिद्ध कलाकार पंकज सिन्हा और शैली गगन ने मनमोहक प्रस्तुति देकर सबको मोहित कर दिया। इसके अलावा कई प्राथमिक विद्यालय के नन्हें बच्चों ने देश भक्ति गीत पर नृत्य प्रस्तुत कर खूब वाहवाही लूटी। बच्चों ने शिव तांडव, शिव भक्ति गीत आदि की प्रस्तुति दी। इसके बाद तीनों अतिथियों ने शिक्षकों, आशा कार्यकर्ताओं और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं का सम्मान किया।

गांव महोत्सव कार्यक्रम की सराहना
जफराबाद विधायक जगदीश नारायण राय ने अमर उजाला की ओर से आयोजित गांव महोत्सव कार्यक्रम की सराहना की। उन्होंने कहा कि गांव से जुड़े लोगों को मंच देना व उन्हें सम्मानित करना नेक पहल है। पूविवि की कुलपति प्रो. वंदना सिंह ने कहा कि महिलाएं सशक्त हो रही हैं। उन्हें सरकारी भी तमाम सुविधाएं मुहैया करा रही है। उन्होंने महिलाओं का सम्मान करने की पहल की सराहना की। एसडीएम न्यायिक डॉ. ग्यान प्रकाश यादव ने भी अमर उजाला के गांव महोत्सव की सराहना की। नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि रामसूरत मौर्या ने भी शिक्षकों व खेल में विजयी बाल खिलाड़ियों को सम्मानित किया।

गांव महोत्सव में कबड्डी खिलाड़ियों ने दिखाई प्रतिभा
गांव महोत्सव में अमर उजाला खेल जूनून का की ओर से कबड्डी प्रतियोेगिता का आयोजन किया गया। इसमें बालक वर्ग में कंपोजिट विद्यालय पहसना मड़ियाहूं ने 26-12 से जीत दर्ज की। ऐसे ही बालिका वर्ग में कंपोजिट विद्यालय जयरामपुर रामनगर ने 27-8 प्रतियोगिता जीती। बालक वर्ग में विजेता टीम में मोहित निषाद, प्रीतेश यादव, अर्जुन यादव, पियूष पाल, आदर्श पाल, अनमोल पाल, मो. सैफ, शुभम सरोज, शनि पटेल और सूजर सरोज शामिल थे।

Check Also

मतदाताओं का बड़े दलों पर भरोसा कायम, इस बार साफ नहीं मिजाज, अब तक ये रहा है इतिहास

सीतापुर: संसदीय सीट सीतापुर के मतदाताओं ने आजादी के बाद से अब तक बड़े दलों …