Monday, March 4, 2024 at 7:03 AM

’22 जनवरी को राम मंदिर में समारोह नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम’, राहुल का बड़ा आरोप

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आज तीसरा दिन है। मंगलवार की सुबह यात्रा नगालैंड की राजधानी कोहिमा के विसवेमा इलाके से शुरू हुई। राहुल गांधी सोमवार की शाम नगालैंड पहुंचे थे। सुबह राहुल गांधी ने स्थानीय लोगों से मुलाकात की और मुलाकात के बाद कोहिमा से अपनी यात्रा आगे बढ़ाई।

जयराम रमेश ने केंद्र पर साधा निशाना

कोहिमा से यात्रा शुरू होने से पहले मीडिया से बातचीत में कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने केंद्र सरकार को घेरते हुए कहा कि ‘यह नेशनल हाइवे 29 है और आप इसकी हालत देख सकते हैं। प्रधानमंत्री और नितिन गडकरी बहुत कुछ बोलते हैं, लेकिन इस सड़क में सिर्फ गड्ढे हैं और यह नेशनल हाइवे है। राहुल गांधी दोपहर एक बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे।’ नगालैंड में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान राहुल गांधी जगह-जगह स्थानीय लोगों से मिल रहे हैं। लोगों में भी राहुल गांधी से मिलने और उन्हें देखने का उत्साह है।

कोहिमा में युद्ध स्मारक पर पहुंचे राहुल गांधी

भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान राहुल गांधी मंगलवार को नगालैंड की राजधानी कोहिमा में स्थित युद्ध स्मारक पहुंचे। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी सेना को खदेड़ने वाले सहयोगी देशों के सैनिकों की याद में यह स्मारक बना है। यहां कई सैनिकों का अंतिम संस्कार हुआ था। कोहिमा में राहुल गांधी ने लोगों के जनसमूह को संबोधित भी किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि ‘अगर आप एक छोटे राज्य से हैं तो भी आपके पास देश के अन्य राज्यों जितने ही अधिकार हैं। भारत जोड़ो न्याय यात्रा का विचार यही है।’

‘भारत जोड़ो यात्रा के दौरान ही आया था इस यात्रा का ख्याल’
राहुल गांधी ने एक अन्य कार्यक्रम में कहा ‘बीते साल हमने भारत जोड़ो यात्रा कन्याकुमारी से कश्मीर तक की थी और देश के लोगों, विभिन्न संस्कृतियों, विभिन्न धर्मों और अलग-अलग भाषाई लोगों को साथ लाने की कोशिश की थी। तभी हमें पूर्व से पश्चिम की यात्रा करने का भी विचार आया था।

राम मंदिर कार्यक्रम को लेकर ये बोले राहुल गांधी
राहुल गांधी ने राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर कहा ‘आरएसएस और भाजपा ने 22 जनवरी के कार्यक्रम को पूरी तरह से राजनीतिक नरेंद्र मोदी कार्यक्रम बना दिया है। यह आरएसएस और भाजपा का कार्यक्रम है और मुझे लगता है कि इसी वजह से कांग्रेस अध्यक्ष इस कार्यक्रम में नहीं जा रहे हैं। हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। यहां तक की हिंदू धर्म के सबसे बड़े गुरुओं ने भी अपने विचार सार्वजनिक किए हैं और कहा है कि 22 जनवरी का कार्यक्रम राजनीतिक कार्यक्रम है। ऐसे में हमारा ऐसे कार्यक्रम में जाना मुश्किल है, जिसे प्रधानमंत्री और आरएसएस के इर्द-गिर्द बनाया गया है।’

कोहिमा में राहुल गांधी ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- यह एक हाइब्रिड यात्रा होगी
भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने मंगलवार को नगालैंड की राजधानी कोहिमा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने कहा, ‘वह चाहते थे कि वह पैदल ही यह पूरी यात्रा करें, लेकिन तब यह बहुत लंबी होती और इतना समय भी नहीं था। इसलिए हम हाइब्रिड यात्रा कर रहे हैं।’

इंडो-नगा मुद्दे पर क्या बोले राहुल गांधी
राहुल गांधी ने इंडो-नागा राजनीतिक विवाद पर कहा ‘मैंने कई नगा नेताओं से इस मुद्दे पर बात की है और उनका कहना है कि वह भी हैरान हैं कि बात आगे क्यों नहीं बढ़ी। हमें ये भी नहीं पता कि पीएम मोदी इसका हल निकालने के लिए क्या कर रहे हैं। यह मुद्दा एक समस्या है और इसे सुलझाने के लिए चर्चा की जरूरत है। जहां तक प्रधानमंत्री की बात है तो इसकी साफ कमी है। पीएम बिना सोचे वादे करते हैं और मुझे पता है कि लोग इसे लेकर नाराज हैं क्योंकि बीते नौ सालों से कुछ नहीं हुआ है।’

विपक्षी गठबंधन पर राहुल ने कही ये बात
विपक्षी गठबंधन पर राहुल गांधी ने कहा कि ‘2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को रोकने के लिए विपक्षी गठबंधन मजबूती से काम कर रहा है। यह यात्रा भी एक विचारधारा की यात्रा है। देश में काफी अन्याय हुआ है और हम इसे लेकर ही यात्रा निकाल रहे हैं। विपक्षी गठबंधन की स्थिति बहुत अच्छी है। हम सहयोगियों से बात कर रहे हैं और सीट बंटवारे पर बात हो रही है। सबकुछ अच्छा चल रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि यह मुश्किल नहीं है और उन्हें विश्वास है कि जल्द ही सभी मुद्दे सुलझा लिए जाएंगे।’

हिंदू धर्म को लेकर राहुल गांधी ने कही ये बात
भाजपा के विपक्षी गठबंधन को हिंदू विरोधी होने के आरोपों पर राहुल गांधी ने कहा ‘जो भी धर्म में विश्वास रखता है, उसका यह रिश्ता निजी होता है। जो लोग धर्म के साथ सार्वजनिक रिश्ता रखते हैं, वही इसका फायदा लेने की कोशिश करते हैं। मैं अपने धर्म का फायदा लेने की कोशिश नहीं करता और मेरी इसमें कोई रुचि नहीं है। मैं धर्म के सिद्धांतों के अनुसार जीवन जीता हूं, लोगों से अच्छा व्यवहार करता हूं, उनका सम्मान करता हूं। जब कोई मुझे कुछ बोलता है तो मैं अहंकार से जवाब नहीं देता, उनकी बात सुनता हूं। मैं नफरत नहीं फैलाता, मेरे लिए यही हिंदू धर्म है। मैं जीवन में इसका पालन करता हूं लेकिन मुझे इसे अपनी शर्ट पर पहनने की जरूरत नहीं है। जो इसमें विश्वास नहीं करते, उन्हें ही दिखावा करने की जरूरत होती है।’

Check Also

रामलला के दरबार में फफक कर रो पड़े विधायक, बोले- सपा नेतृत्व ने अयोध्या आने से रोका था

गोसाईगंज से समाजवादी पार्टी के बाहुबली विधायक अभय सिंह ने शनिवार को रामलला के दर्शन …