Monday, May 20, 2024 at 7:55 PM

भारत-भूटान असाधारण संबंधों को और मजबूती देने के लिए प्रतिबद्ध

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत और भूटान अपने असाधारण संबंधों को और मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भूटान के पीएम दशो शेरिंग तोबगे को भरोसा दिलाया कि उच्च आय वाला राष्ट्र बनने की अपनी खोज में नई दिल्ली थिम्पू के साथ साझेदारी को बरकरार रखने के लिए कटिबद्ध है।

मोदी और टोबगे की मुलाकात के दो दिन बाद शनिवार को जारी साझा बयान में कहा गया है कि दोनों प्रधानमंत्रियों ने सौर, पवन ऊर्जा और हरित हाइड्रोजन को शामिल करने के लिए जल विद्युत क्षेत्र से परे मौजूदा भारत-भूटान ऊर्जा साझेदारी का विस्तार करने पर सहमति जताई है।भूटान के लिए भारत की विकास सहायता बुनियादी ढांचे के विकास, उसके विस्तृत रूप में कनेक्टिविटी के निर्माण पर केंद्रित होगी, जिसमें सड़क, रेल, वायु और डिजिटल कनेक्टिविटी शामिल हैं।

वहीं, टोबगे ने भूटान की 12वीं पंचवर्षीय योजना के लिए 5,000 करोड़ की विकास सहायता के लिए भारत को धन्यवाद दिया। बातचीत के दौरान मोदी ने गेलेफू माइंडफुलनेस सिटी को लेकर टोबगे के दृष्टिकोण की भी सराहना की। इससे भूटान और क्षेत्र में स्थायी रूप से आर्थिक समृद्धि आएगी। एजेंसी

परस्पर समझ से मजबूत हैं रिश्ते…
साझा बयान के मुताबिक, भारत-भूटान साझेदारी की विशेषता सभी स्तरों पर अत्यधिक विश्वास, सद्भावना और आपसी समझ है। लोगों के बीच मजबूत संपर्क और घनिष्ठ आर्थिक एवं विकास साझेदारी से इस भरोसे को बल मिलता है।

Check Also

निकोबार द्वीपसमूह पहुंचा दक्षिण पश्चिम मानसून, जल्द केरल में देगा दस्तक

नई दिल्ली:  भारतीय अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है और इसके लिए मानसून जीवनरेखा की तरह काम …