Saturday, December 10, 2022 at 1:30 AM

Whatsapp के जरिए समाज में घोला जा रहा है बाल पोर्नोग्राफी का जहर

डेस्क. बाल पोर्नोग्राफी को फैलाने वाले लोग Whatsapp का इस्तेमाल इस संबंध में सामग्री को फैलाने के लिए धड़ल्ले से करते हैं। रिपोर्ट के अनुसार, पर्याप्त मानव मध्यस्थों (ह्यूमन मोडरेटर्स) के अभाव में, इस प्रसिद्ध त्वरित मैसेजिंग एप की स्वचालित प्रणाली पर इस तरह की सामग्रियां आगे बढ़ जा रही है, जोकि अपने प्रयोगकर्ताओं के लिए एंड-टू-एंड इंक्रीप्शन प्रदान करता है।

इजरायल के दो NGO की रिपोर्ट के अनुसार, Whatsapp ग्रुप को खोजने के लिए थर्ड पार्टी एप बाल प्रोर्नोग्राफी सामग्री को बढ़ाने वाले प्रयोगकर्ताओं के साथ जुड़ने के लिए निमंत्रण लिंक की पेशकश करते हैं।

उत्पीड़न-रोधी स्टार्टअप एंटी टॉक्सिन के अनुसार, टेकक्रंच ने अपनी जांच में पाया कि इनमें से कई समूह मौजूदा समय में सक्रिय हैं। इनमें से कुछ समूह तो अपने काम को छुपाते भी नहीं।

टेकक्रंच की जांच के अनुसार, फेसबुक को Whatsapp पर इस तरह की सामग्रियों को फैलने से बचाने की कोशिश करते हुए देखा गया।

रिपोर्ट के अनुसार, तकनीकी उपायों के बिना ही, जिसकी इनक्रिप्शन को कमजोर करने के लिए जरूरत होगी, Whatsapp मध्यस्थों को इन समूहों को खोज निकालने और इनमें रोक लगाने के लिए सक्षम होना चाहिए।

बाल पार्नोग्राफी ही एकमात्र समस्या नहीं है, जिससे यह मैसेजिंग एप जूझ रहा है। भारत जैसे देश में Whatsapp का इस्तेमाल अफवाहों को फैलाने के लिए भी किया जाता है, जिसके फलस्वरूप कई लोगों को पीट-पीट कर मार डाला गया है।

Check Also

पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों में आज हुआ बदलाव, चेक करें रेट

 ग्‍लोबल मार्केट में कच्‍चे तेल की कीमतों में मंगलवार सुबह तेज गिरावट दिखी लेकिन आज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *