Monday, July 15, 2024 at 10:58 PM

‘उम्मीदों से उलट रहे नतीजे’, लोकसभा चुनाव के नतीजों पर कैसी रही दुनियाभर के मीडिया की प्रतिक्रिया

लोकसभा चुनाव के रुझानों में एनडीए और INDIA गठबंधन के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है। रुझानों में एनडीए बहुमत के आंकड़े को पार कर चुकी है, लेकिन विपक्षी गठबंधन भी बहुत ज्यादा पीछे नहीं है। आंकड़ों का असर भारत के शेयर बाजार पर भी पड़ा है और शेयर बाजार में गिरावट आई है। भारत के चुनाव पर दुनियाभर की नजरें लगीं थी और अब शुरुआती रुझानों पर भी दुनियाभर के प्रमुख मीडिया संस्थानों ने अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दी है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने लिखा- विपक्षी गठबंधन रफ्तार पकड़ रहा
पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन का कहना है कि भारतीय चुनाव में मोदी गठबंधन का दबदबा है, लेकिन विपक्षी गठबंधन भी रफ्तार पकड़ रहा है। अखबार ने लिखा है कि राहुल गांधी के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन ने उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है। वाराणसी सीट पर पीएम मोदी के आगे चलने की बात भी अखबार ने लिखी है।

न्यूयॉर्क टाइम्स- उम्मीदों के विपरीत रुझान
अमेरिकी मीडिया संस्थान न्यूयॉर्क टाइम्स का कहना है कि भारत के लोकसभा चुनाव में कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है और शुरुआती रुझान उम्मीदों के विपरीत चल रहे हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक रिपोर्ट में कहा शुरुआती रुझानों में भाजपा आगे है, लेकिन शायद भाजपा बहुमत हासिल नहीं कर सकेगी और पार्टी को बहुमत के लिए छोटी पार्टियों का समर्थन लेना होगा। हालांकि रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि अभी स्पष्ट तौर पर कह पाना मुश्किल है, लेकिन अगर ऐसा हुआ तो यह पहली बार होगा, जब पीएम मोदी अपने राजनीतिक करियर में पहली बार बगैर बहुमत के सरकार चलाएंगे।

बीबीसी- अकेले दम पर बहुमत पाने के लिए भाजपा को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही
बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है नरेंद्र मोदी ने 400 पार का नारा दिया था, लेकिन शुरुआती रुझानों में मुकाबला कड़ा है और अब भाजपा को अकेले दम पर बहुमत पाने में भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। शुरुआती रुझानों में एनडीए और विपक्षी गठबंधन के बीच 60-70 सीटों का ही अंतर है और एनडीए एकतरफा जीत हासिल नहीं कर रहा है। कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ता खुशी मना रहे हैं। वहीं भाजपा मुख्यालय पर मिली-जुली प्रतिक्रिया है। हालांकि भाजपा के पार्टी प्रवक्ताओं का दावा है कि वह आराम से सरकार बना रहे हैं।

Check Also

उपराष्ट्रपति हैरिस ने डोनाल्ड ट्रंप पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- वह लोकतंत्र को तानाशाही में बदलना चाहते हैं

अमेरिका में पांच नवंबर को चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में सभी राजनीतिक दल अपने …