Monday, March 4, 2024 at 8:03 AM

विवादित संवाद को लेकर ‘अन्नपूर्णानी’ के खिलाफ हुआ विरोध प्रदर्शन, निर्माताओं ने जारी किया बयान

साउथ अभिनेत्री नयनतारा की फिल्म ‘अन्नपूर्णानी’ के निर्माताओं के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगा है। इस मामले में फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ मुंबई पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज की थी। अब यह विवाद बढ़ता ही जा रहा है। ‘अन्नपूर्णानी’ में भगवान राम के खिलाफ विवादास्पद संवादों को लेकर नेटफ्लिक्स के कार्यालय के बाहर गुरुवार की सुबह मुंबई में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया गया। विश्व हिंदू परिषद के सदस्यों ने कार्यालय के बाहर नारेबाजी की और फिल्म को मंच से हटाने की मांग की।

कार्यकर्ताओं ने किया विरोध-प्रदर्शन
इंटरनेट पर कई वीडियो सामने आए हैं, जिनमें कार्यकर्ताओं को अपनी पार्टी के झंडे लहराते और नयनतारा की ‘अन्नपूर्णानी’ के बहिष्कार की मांग करते देखा जा सकता है। हालांकि, बाद में कार्यकर्ताओं को मुंबई पुलिस ने हिरासत में ले लिया और उन्हें साइट छोड़ने के लिए मजबूर किया गया। दरअसल, यह विवाद तब शुरू हुआ, जब कई राजनीतिक नेताओं ने निर्माताओं के खिलाफ भगवान राम का अपमान करने का आरोप लगाया। फिल्म का एक किरदार अभिनेत्री से मांस खाने के लिए उकसाते हुए कहता है कि भगवान श्रीराम भी मांस खाने वाले थे।

निर्माताओं ने कही यह बात
जी स्टूडियोज ‘अन्नपूर्णानी’ के निर्माताओं में से एक है। अब भारी हंगामे के बाद जी स्टूडियोज ने एक बयान जारी किया, जिसमें वादा किया गया कि दृश्य को संपादित किया जाएगा और जब तक आवश्यक बदलाव नहीं किए जाते, तब तक फिल्म को नेटफ्लिक्स से हटा दिया जाएगा। बयान में कहा गया है, ‘फिल्म के सह-निर्माता के रूप में हमारा हिंदुओं और ब्राह्मण समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का कोई इरादा नहीं है और हम संबंधित समुदायों की भावनाओं को हुई असुविधा और ठेस के लिए माफी मांगना चाहते हैं।’

निर्माताओं पर लगे कई आरोप
यह विवाद पहली बार तब सामने आया, जब शिवसेना नेता रमेश सोलंकी ने हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए ‘अन्नपूर्णानी के निर्माताओं के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने अपने एक्स हैंडल पर लिखा था, ‘ऐसे समय में जब पूरी दुनिया भगवान श्री राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा की प्रत्याशा में खुशी मना रही है, यह हिंदू विरोधी फिल्म अन्नपूर्णानी नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई है, जो जी स्टूडियो, नाद स्टूडियो और ट्राइडेंट आर्ट्स द्वारा निर्मित है। एक बेटी हिंदू पुजारी, बिरयानी पकाने के लिए नमाज अदा करता है। इस फिल्म में लव जिहाद को बढ़ावा दिया गया है। अभिनेता फरहान ने अभिनेत्री को यह कहकर मांस खाने के लिए उकसाया कि भगवान श्री राम भी मांस खाने वाले थे।’ उन्होंने यह भी बताया कि फिल्म में अभिनेत्री के पिता एक मंदिर के पुजारी हैं, जो भगवान विष्णु के लिए भोग भी बनाते हैं, लेकिन उनकी बेटी को लेकर फिल्म में मांस पकाना, मुस्लिम से प्यार करना, रमजान इफ्तार के लिए जाना और नमाज अदा करना दिखाया गया है। साथ ही फिल्म पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया गया।’

Check Also

‘दे दे प्यार दे 2’ में फिर जमेगी अजय-रकुल की जोड़ी, शूटिंग पर आया बड़ा अपडेट

अजय देवगन इस साल एक से बढ़कर एक फिल्मों से दर्शकों का मनोरंजन करने के …