Tuesday, July 16, 2024 at 4:31 AM

सात हजार रुपये के लिए किया बेटी का कत्ल, मां ने धोए खून के दाग; ऐसे खुला हत्या का राज

शाहजहांपुर के चौक कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला भारद्वाजी निवासी पूर्ति गुप्ता (23) की हत्या उसके पिता संजय गुप्ता ने ही की थी। शनिवार को पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा कर दिया। पुलिस के मुताबिक पूर्ति ने संजय की अंगूठी बेच दी थी। खर्चे के बाद बचे हुए रुपये न देने से नाराज होकर पिता ने बेटी की चाकू मारकर हत्या कर दी थी।

13 जून की रात करीब साढ़े 11 बजे मायके में रह रही कमल राजपूत की पत्नी पूर्ति गुप्ता की हत्या कर दी गई थी। उसके गले और सीने पर चाकू से प्रहार किए गए थे। चाकू मारकर हत्या किए जाने के बावजूद घरवालों को हत्यारे के बारे में जानकारी न होने पर पुलिस को शक गहरा गया था।

मृतका की मां ने किया गुमराह करने का प्रयास
पुलिस का पहला शक उसके भाई पवन पर गया। घटना से कुछ घंटे पहले ही वह हरिद्वार के लिए रवाना हुआ था। पूछताछ के दौरान मां वंदना भी पुलिस को उलझाने का प्रयास कर रही थी। हरिद्वार से लौटकर शुक्रवार रात आए पवन से पुलिस ने पूछताछ की। उसने बताया कि मां वंदना ने पिता संजय द्वारा पूर्ति की हत्या करने की बात बताई थी।

एसपी सिटी संजय कुमार ने बताया कि पूर्ति ने एक सोने की अंगूठी 20 हजार रुपये में बेची थी। इसी से घर का खर्च चल रहा था। 20 में से सात हजार रुपये बचे थे। संजय गुप्ता ये रुपये मांग रहा था। इसी को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ था। गुस्से में पूर्ति ने संजय को लात मार दी थी।

बेटी की हत्या करने के बाद रोया आरोपी
रात में पिता संजय ने बेड पर सो रही बेटी पर चाकू से हमला किया था। हत्या के बाद संजय के रोने पर पत्नी वंदना ने चाकू को धोकर अलमारी में छिपा दिया था। संजय कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर है। उसके ऊपर 16 मुकदमे दर्ज हैं। पैरालाइज का अटैक होने के बाद से वह अधिकतर समय बिस्तर पर रहता था। एसपी सिटी संजय कुमार ने बताया कि संजय के साथ ही पत्नी वंदना को भी जेल भेजा जाएगा।

Check Also

आरक्षण के मुद्दे को और धार देगी कांग्रेस, अगस्त से शुरू होगा आंदोलन, भर्तियों के जुटाए जा रहे सुबूत

लखनऊ:  कांग्रेस आरक्षण के मुद्दे को निरंतर धार देगी। इसके लिए पार्टी शैक्षिक एवं चिकित्सा …