Tuesday, July 16, 2024 at 5:17 AM

भीषण भिड़ंत में पांच फीट उछली बाइकें…फिर लगी आग, बदहवास बेटे को पुकारती रही मां, पढ़ें महोबा हादसे की कहानी

महोबा: महोबा जिले में श्रीनगर-बेलाताल मार्ग पर हुए झकझोर देने वाले इस हादसे से सभी की आखें नम हो गईं। भिड़ंत इतनी भीषण थी कि टक्कर होते ही बाइकें पांच फीट ऊंचे उछलीं और दोनों बाइकों की टंकियां फट गईं, इससे आग लग गई। हादसा होते ही चीख-पुकार मच गई। उधर, नशा व तेज रफ्तार इस हादसे का कारण बना। दोनों बाइकें करीब 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चल रही थीं।

पीरा गांव निवासी ललितेश मप्र के छतरपुर जिले के कस्बा गढ़ीमलहरा निवासी अपने मामा कमला की बेटी दीपिका की शादी में बाइक से अपनी बहन नेहा उर्फ केसर, भांजे देवेंद्र और राज के साथ जा रहा था। तभी थाना श्रीनगर के चितइयन गांव के पास सामने से आ रही जिस बाइक से टक्कर हुई, वह भी करीब 100 किमी की रफ्तार से थे। बताया जा रहा है कि ललतेश नशे की हालत में बाइक चला रहा था। इससे हादसा हुआ। जांच के दौरान जली बाइक की डिकी से पुलिस को 10 क्वार्टर शराब भी मिली।

डेढ़ घंटे तक नहीं पहुंची एंबुलेंस
श्रीनगर क्षेत्र के चितइयन गांव के पास हुए हादसे के बाद ग्रामीणों की मौके पर भीड़ जुट गई। घटना की सूचना पुलिस व एंबुलेंस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची। एंबुलेंस डेढ़ घंटे तक नहीं आई। तब पुलिस वाहनों की मदद से घायलों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। इससे लोगों में आक्रोश दिखा।

शादी के घर में पसरा मातम
घटना के बाद से मृतक ललतेश के मामा के घर में चल रही शादी समारोह की खुशियां मातम में बदल गईं। शादीघर में हर कोई वैवाहिक रस्मों की तैयारियां कर रहा था। जैसे ही गढ़ीमलहरा निवासी ललतेश के मामा कमला के घर पर घटना की जानकारी पहुंची तो सभी लोगों की आंखें नम हो गईं और वह घटनास्थल व अस्पताल के लिए दौड़ पड़े।

पुलिस ने जान की बाजी लगाकर बचाईं दो जानें
बाइकों की भिड़ंत के बाद आग लगने की सूचना पर थाना श्रीनगर पुलिस मौके पर पहुंची। आग से जल रहे चार लोगों में से दो लोगों को पुलिस ने जान की बाजी लगाकर बाहर निकाला, जबकि मामा-भांजे के सिर्फ कंकाल ही बचे। पुलिस की सक्रियता से केसर व भांजे देवेंद्र की जान बच गई। प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो आग से जल रहा ललतेश मदद के लिए चीखता रहा। कुछ देर बाद उसकी आवाज आना बंद हो गई।

हेलमेट पहने होते ,तो दो की बच जाती जान
बाइकों की भिड़ंत के भीषण सड़क हादसे में एक भी बाइक सवार हेलमेट नहीं लगाए था। टक्कर के उछलकर दूर गिरे दूसरी बाइक में सवार चंद्रभान व उसके मौसेरे भाई सुनील राही के सिर पर गंभीर चोटें आईं। इससे उनकी जान चली गई। यदि मौसेरे भाई हेलमेट लगाए होते तो उनकी जान बच जाती जबकि पहली बाइक में सवार चार लोग आग की चपेट में आ गए। इससे मामा-भांजे की मौत हो गई।
दहाड़े मारकर बेटे को पुकारती रही मां
बाइकों की भिड़ंत में मासूम राज की मौत होने के बाद जिला अस्पताल पहुंचीं मां लाड़कुंवर दहाड़े मारकर बेटे को पुकारती रहीं। मेरा रज्जू कहां गया इसके अलावा उसकी मुंह से कोई शब्द नहीं निकला। लाड़कुंवर परिवार के लोगों की पीछे आ रही दूसरी बाइक में सवार थी जबकि उसका बेटा आगे जा रही बाइक में मामा व मौसी के साथ बैठा था। परिजन लाड़कुंवर को ढांढ़स बंधाते रहे लेकिन वह कई बार अचेत होकर गिर गईं।

मामा-भांजे समेत चार की मौत
बेलाताल-श्रीनगर मार्ग पर चितइयन गांव के पास तेज रफ्तार बाइकों की आमने-सामने भिड़ंत हो गई। जोरदार भिड़ंत में गाड़ियों की टंकी फटने से आग लग गई। हादसे में एक बाइक पर सवार मामा-भांजे जिंदा जल गए, जबकि दूसरी बाइक पर सवार मौसेरे भाइयों की गंभीर चोटें आने पर मौत हो गई। उधर, मासूम समेत दो लोग झुलस गए। घायलों को जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज बांदा रेफर किया गया है।

शादी में शामिल होने जा रहे थे सभी
डीएम व एसपी ने घटनास्थल पहुंच जांच की और अस्पताल में घायलों का हालचाल लेते हुए बेहतर इलाज के निर्देश दिए। मध्यप्रदेश के जनपद छतरपुर के पीरा गांव निवासी ललतेश अहिरवार (22) अपनी बहनों के यहां कोतवाली कुलपहाड़ के मुढ़ारी गांव आया था। मंगलवार की शाम करीब चार बजे वह अपनी बहन केसर (20), भांजे देवेंद्र (07) और राज (10) के साथ बाइक से अपने मामा गढ़ीमलहरा निवासी कमला अहिरवार की बेटी दीपिका की शादी में शामिल होने जा रहा था।ग

शादी में शामिल होने जा रहे थे सभी
डीएम व एसपी ने घटनास्थल पहुंच जांच की और अस्पताल में घायलों का हालचाल लेते हुए बेहतर इलाज के निर्देश दिए। मध्यप्रदेश के जनपद छतरपुर के पीरा गांव निवासी ललतेश अहिरवार (22) अपनी बहनों के यहां कोतवाली कुलपहाड़ के मुढ़ारी गांव आया था। मंगलवार की शाम करीब चार बजे वह अपनी बहन केसर (20), भांजे देवेंद्र (07) और राज (10) के साथ बाइक से अपने मामा गढ़ीमलहरा निवासी कमला अहिरवार की बेटी दीपिका की शादी में शामिल होने जा रहा था।

बहन केसर व दूसरा भांजा देवेंद्र बुरी तरह झुलसे
रास्ते में चितइयन गांव के पास सामने से आ रही तेज रफ्तार बाइक से उनकी भिड़ंत हो गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि दोनों बाइकों की टंकियां फट गईं और आग लग गई। दूसरी बाइक पर सवार थाना श्रीनगर के बरा गांव निवासी चंद्रभान राही (30) व उसका मौसेरा भाई सुनील राही (25) उछलकर दूर जा गिरे। इससे उनकी मौके पर मौत हो गई जबकि पहली बाइक पर सवार चारों लोग आग की चपेट में आ गए। इससे ललतेश और उसके भांजे राज की जलकर मौत हो गई। वहीं, बहन केसर व दूसरा भांजा देवेंद्र बुरी तरह झुलस गए।

सड़क पर मच गई थी चीख-पुकार
सूचना पर पहुंची पुलिस ने झुलसे लोगों को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां से उन्हें रेफर किया गया। सूचना मिलते ही डीएम मृदुल चौधरी, एसपी अपर्णा गुप्ता, अपर एसपी सत्यम, एसडीएम जितेंद्र कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने प्रत्यक्षदर्शियों से घटना की जानकारी ली। भीषण सड़क हादसे में चार लोगों की मौत होने और सड़क पर चीख-पुकार मचने की घटना ने सभी को झकझोर दिया। मृतक मौसेरे भाई शादी में बैंड-बाजा बजाने का काम करते थे। वह बुकिंग में ननौरा गांव जा रहे थे लेकिन रास्ते में हादसा हो गया।

Check Also

आरक्षण के मुद्दे को और धार देगी कांग्रेस, अगस्त से शुरू होगा आंदोलन, भर्तियों के जुटाए जा रहे सुबूत

लखनऊ:  कांग्रेस आरक्षण के मुद्दे को निरंतर धार देगी। इसके लिए पार्टी शैक्षिक एवं चिकित्सा …