Saturday, December 10, 2022 at 1:30 AM

25 हजार बीएड कॉलेज बंद होने की कगार पर, NCTE ने रोकी मान्यता

New Delhi. राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) ने सत्र 2019-20 से शुरू होने वाले चार वर्षीय एकीकृत अध्यापक शिक्षा कार्यक्रम (ITEP-बीएड) की मान्यता प्रक्रिया फिलहाल स्थगित कर दी है। यह प्रक्रिया 03 दिसंबर से शुरू हुई थी जो 31 दिसंबर तक चलनी थी। उत्तर प्रदेश स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन इस चार वर्षीय बीएड कोर्स का विरोध कर रहा है। एसोसिएशन इसे सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन मान रहा है।

NCTE ने दो वर्षीय बीएड पर सीधे तौर पर रोक तो नहीं लगाई लेकिन चार वर्षीय कोर्स शुरू होने के बाद इसके भविष्य को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं की। इसे लेकर केवल बीएड कोर्स चलाने वाले कॉलेज सशंकित हो गए। इनका मानना था कि चार वर्षीय कोर्स की मान्यता उन्हें नहीं मिलेगी। आगे इन कॉलेजों को बंद करने की नौबत आ जाएगी। अगर ऐसा होता है तो देश के 25 हजार बीएड कॉलेज बंदी की कगार पर पहुंच जाएंगे।

सुप्रीम कोर्ट दे चुका निर्णय

उत्तर प्रदेश स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी का कहना है कि 2014 से पूर्व बीएड एक वर्षीय कोर्स था। 2014 से दो वर्षीय बीएड की शुरुआत की गई। यह 3 वर्षीय कोर्स सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर रिटायर जज जस्टिस वर्मा की अध्यक्षता में गठित कमेटी की संस्तुति पर शुरू किया गया था। दो वर्षीय कोर्स की शुरुआत काफी अध्ययन के बाद की गई थी लेकिन अचानक 4 वर्षीय कोर्स के लिए गजट कर दिया गया।

ITEP की मान्यता केवल उन संस्थानों को दी जानी हैं जहां बीएससी, बीए या बीकॉम की कक्षाएं चलती हैं। मान्यता के लिए आवेदन केवल संयुक्त शिक्षण संस्थानों से ही 31 दिसंबर तक मांगे गए थे। केवल बीएड कॉलेज इस चार वर्षीय कोर्स से वंचित रखे गए हैं।

एसोसिएशन अध्यक्ष का कहना है कि अगर दो वर्षीय कोर्स बंद होते हैं तो पूरे प्रदेश में इससे संकट पैदा होगा। 25 हजार ऐसे कॉलेजों में कार्यरत शिक्षक बेरोजगार होंगे। लाखों छात्र बीएड से वंचित रहेंगे। हजारों करोड़ के इंफ्रास्ट्रक्चर का नुकसान होगा। सुप्रीम कोर्ट के स्तर से गठित समिति की संस्तुति पर शुरू किए गए दो वर्षीय बीएड और नुकसान का हवाला देते हुए NCTE को पत्र भेजा था।
फिलहाल रहेगी रोक

NCTE ने अपनी वेबसाइट पर चार वर्षीय ITEP कोर्स की प्रक्रिया अग्रिम आदेश तक स्थगित करने की जानकारी दी है। अभी इसके कारण नहीं बताए हैं। बताते चलें कि ITEP कोर्स के लिए 12वीं में 50 प्रतिशत अंक लाने वाले छात्र-छात्राएं पात्र होंगे। यह कोर्स बीए बीएड, बीएससी बीएड या बीकॉम बीएड की तरह होगा।

Check Also

डिप्लोमा ट्रेनी के पदों पर यहाँ निकली भर्ती, ऐसे करें अप्लाई

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड,मुंबई में नौकरी  पाने का एक शानदार अवसर निकला है। BEL ने डिप्लोमा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *