Monday, November 28, 2022 at 1:54 PM

2 बहनों को जिंदा जलाने वाले आरोपियों को कोर्ट ने सुनाई ये सजा

New Delhi. बिहार के बेतिया जिले में दो बहनों को जिंदा जलाने वाले चर्चित मामले में कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। इस मामले में दो आरोपियों को जिला सत्र न्यायलय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। वहीं, दोनों दोषियों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। साथ ही कोर्ट ने कहा कि जुर्माना नहीं भड़ने पर उन्हें 2-2 साल की अतिरिक्त सजा दी जाएगी।

बतिया के मुफ्फसिल थाना में हुए चर्चित कांड संख्या 141/17 में शनिवार को दो अभियुक्तों को जिला व् सत्र न्यायाधीश ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। घर में कैद कर और पेट्रोल छिड़क कर दो सगी बहनों को जिंदा जलाने के आरोपी सुनील और नवनील सत्र न्यायाधिश अभिमन्यु लाल श्रीवास्तव ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। आजीवन कारावास के साथ ही 50-50 हजार का जुर्माना भी लगाया गया है।

घटना 19 अप्रैल 2017 की है। जब बेतिया में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई थी। बताया जाता है कि आरोपी नवनील और सुनील ने रात दो बजे पेट्रोल छिड़क दो सगी बहनों को घर में बंद कर जिंदा जला दिया था। इस घटना में एक बहन की मौत मौके पर ही हो गई। जबकि दूसरी बहन की मौत इलाज के दौरान अस्पताल में हो गई थी।

घटना के बाद पीड़िता की मां ने पांच लोगों को नामजद करते हुए बेतिया मुफस्सिल थाना मे प्राथमिकी दर्ज कराई थी। साक्ष्य के आभाव दो आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया था। जबकि एक पर ट्रायल अभी भी जारी है। वहीं, दो आरोपियों के खिलाफ कोर्ट ने सजा का ऐलान किया है।

बेतिया कोर्ट के लोक अभियोजक अरविंद कुमार सिंह ने बताया की दो आरोपियों को आजीवन कारावास दिया गया है। साथ ही 50-50 हजार का जुर्माना भी लगाया गया है।

वहीं, आरोपियों को कोर्ट से सजा मुकर्रर करने के बाद पीड़िता की मां खुशी जाहिर करते हुए कहा कि कोर्ट ने आज हमे न्याय दिया है। कोर्ट ने आरोपियों को सजा दे कर बताया है कि सच्चाई की जीत होती है।

Check Also

यरुशलम में दो बस स्टॉप पर हुए ब्लास्ट में एक युवक ने गवाई जान व 21 लोग घायल

यरुशलम में  दो बस स्टॉप पर हुए दो बम धमाकों में एक व्यक्ति की मौत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *