Wednesday, December 7, 2022 at 9:21 AM

 विदेश मंत्री ने किया लोकसभा चुनाव न लड़ने का एलान

भाजपा की वरिष्ठ नेता  विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को 2019 लोकसभा चुनाव न लड़ने का एलान कर दिया. इंदौर में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बोला कि सेहतकारणों के चलते वो चुनाव नहीं लड़ेंगी. उन्होंने ये भी बोला कि इस बारे में पार्टी को अपनी मंशा से अवगत करा दिया है.

सुषमा के इस निर्णय पर कांग्रेस पार्टी नेता पी चिदंबरम का बयान आया है. चिदंबरम ने ट्वीट कर बोला है कि मध्यप्रदेश में भाजपा की बेकार हालत को देखकर सुषमा ने ‘मैदान छोड़’ दिया है. चिदंबरम ने आगे बोला कि सुषमा स्मार्ट हैं इसी लिए उन्होंने ये निर्णय लिया.

इस ट्वीट के बाद चिदंबरम ने एक  ट्वीट किया. इस ट्वीट में उन्होंने सुषमा की तारीफ की. चिदंबरम ने बोला कि श्रीमती सुषमा स्वराज ने राष्ट्र को महान गरिमा के साथ सेवा दी है. हम उनके अच्छे सेहत  लंबे ज़िंदगी की कामना करते हैं.

वहीं सुषमा स्वराज के 2019 के चुनाव न लड़ने के निर्णय पर कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने एक भावुक बयान दिया. थरूर ने निराशा जाहिर करते हुए बोला कि संसद में विदेश मंत्री के रूप में मैंने उन्हें हमेशा उदार पाया है.

बता दें कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विदिशा से सांसद हैं. लंबे समय से उनकी स्वास्थ्य अच्छा नहीं चल रही. बीच में कई बार वो अस्पताल में भर्ती रहीं. हालांकि, सियासी गलियारों में इस बात से भी मना नहीं किया जा रहा कि मोदी गवर्नमेंट में बतौर विदेश मंत्री जिस तरह से उनकी अनदेखी हुई, वो उन्हें रास नहीं आई. फिल्हाल सुषमा स्वराज मध्यप्रदेश में पार्टी के लिए प्रचार कर रही हैं.

इंदौर में पत्रकारों से चर्चा के दौरान केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने सेहत कारणों से अगला चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है. उन्होंने बोला कि कांग्रेस पार्टी के वचन लेटर में बड़ी-बड़ी बातें है, किसान का कर्ज माफ, बिजली बिल आधा, लड़कियों के शादी के लिए आधा खर्च आदि. अब कांग्रेस पार्टी नेतृत्व को इस बात पर विश्वास हो गया है कि वह गवर्नमेंट में नही आएगी. इसलिए कितने भी सब्जबाग दिखा लो क्योंकि गवर्नमेंट में तो आना नहीं है.

उन्होंने किसी भी तरह की सत्ता विरोधी लहर होने से मना करते हुए बोला कि कोई विकल्प ही नहीं है  जनता कार्यों के आधार पर बीजेपी को ही वोट देगी. गीता को लेकर सुषमा ने बोलाकि वह भारत की बेटी है इसलिये वापस पाक नही भेजी जाएगी. चाहे उसके परिवार के लोग मिले या न मिलें. अब वह विवाह के लायक हो गयी है उसके लिए भी कोशिश किए जा रहे हैं.

राम मंदिर मुद्दे को लेकर उन्होंने बोला कि राम मंदिर आस्था  आध्यात्म का मुद्दा है चुनाव का नहीं. सुषमा ने बोला कि इंटरनेशनल न्यायालय ऑफ जस्टिस में हम कुलभूषण जाधव के मामले को लेकर गए हैं  कल उसकी सुनवाई होनी है. राममंदिर, राफेल, परिवारवाद, महंगाई को उन्होंने चुनाव का मुद्दा मानने से मना किया है.

Check Also

पेट्रोल और डीज़ल के दाम आज फिर बढ़े

  दिल्ली- पेट्रोल और डीज़ल के दाम आज फिर बढ़े,दिल्ली में डीजल 95 रुपए प्रति …