Tuesday, November 29, 2022 at 2:57 AM

यूपी विधानमंडल में समाजवादी पार्टी के विधायकों का जबरदस्त हंगामा, CM योगी ने कही ये बड़ी बात !

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में आज पहले दिन समाजवादी पार्टी ने जोरदार प्रदर्शन किया। समाजवादी पार्टी के विधायकों व विधान परिषद सदस्यों ने विधान भवन के बाहर प्रदर्शन किया।

यूपी विधानमंडल

समाजवादी पार्टी ने आज विधान भवन के सामने खराब कानून-व्यवस्था के साथ किसानों के मुद्दे पर प्रदर्शन किया। सपा के विधायक प्याज, आलू की माला पहनकर धरने पर बैठे। इसके साथ ही सपा के कई विधायकों ने अनाज की टोकरी सर पर प्रदर्शन करने के साथ साथ गन्ना किसानों की समस्या उठाई।

पहले से ही अनुमान लगाया जा रहा था कि विपक्ष इतनी कम अवधि तक सत्र चलाने के पक्ष में नहीं है लेकिन, सरकार इस मूड में नहीं है कि सत्र आगे तक चले। विपक्षी दलबुलंदशहर में इंस्पेक्टर की हत्या समेत कई ऐसे मामले पर आक्रामक होंगे। सरकार को घेरने के लिए विपक्ष की जोरदार तैयारियों को देखते हुए संकेत मिले हैं कि शीतकालीन सत्र में काफी गरमा-गरमी रहेगी। सरकार ने विशेष रूप से द्वितीय अनुपूरक बजट के लिए शीत कालीन सत्र बुलाया है। इस अवधि में वह अपनी सभी कार्यवाही पूरी करना चाहती है लेकिन, लोकसभा चुनाव को देखते हुए विपक्ष विभिन्न मुद्दों पर हंगामा कर सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोडऩा चाहता है। बुलंदशहर में इंस्पेक्टर की हत्या, राजधानी में भाजपा नेता की हत्या, नोएडा में सर्राफ समेत कई बड़ी लूट और प्रदेश भर में कानून-व्यवस्था से जुड़े मामलों को लेकर विपक्ष हमलावर रहेगा।

21 दिसंबर तक के कार्यक्रम तय

कल कार्य मंत्रणा की बैठक के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि 18 से 21 दिसंबर तक सदन के कार्यक्रमों पर चर्चा हुई है। आज भाजपा सदस्य राम कुमार वर्मा, पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी एवं पूर्व सदस्यों को शोकांजलि अर्पित करने के बाद सदन स्थगित कर दिया जाएगा। बुधवार को 12.20 बजे अनुपूरक बजट पटल पर रखा जाएगा। शुक्रवार को सदन में लंबित 103 संकल्पों पर चर्चा कराई जाएगी। शेष कार्यक्रमों के लिए कार्य मंत्रणा की फिर बैठक होगी।

सिर्फ चार दिन सत्र चलाने पर विपक्ष ने खड़े किये सवाल

विधानसभा का शीतकालीन सत्र सिर्फ चार दिन चलने की सूचना पर विपक्ष ने सवाल खड़े किये हैं। बसपा नेता लालजी वर्मा ने कहा कि सदन का सत्र बढ़ाया जाना चाहिए। विपक्षी नेताओं का कहना है कि सत्र इसलिए कम किया गया है ताकि गंभीर मुद्दों पर सरकार की विफलता पर सवाल न उठ सके। सपा के इकबाल महमूद, विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन और कांग्रेस दल नेता अजय कुमार समेत कई नेताओं ने सत्र की अवधि कम करने पर सवाल उठाए हैं।

सदन में टोका-टोकी से विधायकों के प्रति गलत संदेश : योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम चाहते हैं कि सदन व्यवस्थित रूप से चले। विधायक जनता की समस्याओं को सदन के सम्मुख उठाएं ताकि उसका समाधान निकल सके। सरकार सभी विषयों पर चर्चा कराने के लिए तैयार है। सदन में आरोप-प्रत्यारोपके साथ टोका-टोकी होती है जिससे प्रदेश की जनता के बीच विधायकों के प्रति गलत संदेश जाता है।

शिवपाल पर रहेंगी निगाहें

समाजवादी पार्टी से अलग होकर अपनी नई पार्टी बनाने वाले पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव पर इस बार निगाहें रहेंगे। डेढ़ वर्षों में सदन में उनकी मौजूदगी कुछ खास नहीं रही। चूंकि अब वह खुद एक पार्टी बनाकर मैदान में कूद पड़े हैं, इसलिए सरकार के प्रति उनके रवैये को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं। वह कहां बैठेंगे और सरकार के प्रति किस तरह का व्यवहार रखेंगे, यह देखना है।

Check Also

पेट्रोल और डीज़ल के दाम आज फिर बढ़े

  दिल्ली- पेट्रोल और डीज़ल के दाम आज फिर बढ़े,दिल्ली में डीजल 95 रुपए प्रति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *