Tuesday, January 31, 2023 at 1:15 PM

बच्चे को जन्म देने के ठीक 9 दिन पहले इस माँ को लगा प्रेगनेंसी का पता

लॉरेन व कीथ चॉक बच्चे के लिए वर्षों से प्रयत्न कर रहे थे। इसके चलते दंपति को दो बार गर्भपात का सामना करना पड़ा था व उन्होंने सोचा था कि वह कभी पैरेंट्स नहीं बन पाएंगे। फिर 2 दिसंबर 2019 को उन्होंने संसार में अपने पहले बच्चे का स्वागत किया- अच्छा 9 दिनों के बाद जब उन्हें पता चला कि वह प्रेग्नेंट हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी समाचार के अनुसार 28 वर्ष की लॉरेन को लुइसियाना में अपने माता-पिता के घर घूमने जाने के दौरान पता चला कि वह प्रेग्नेंट थीं।


लॉरेन ने अपने अंदर से खून निकलते देखा
उसने बोला कि उनकी मां, जो कि पेशे से एक चिकित्सक हैं, ने सुझाव दिया कि प्रेग्नेंसी टेस्ट करवा लें। मां ने सोचा कि लॉरेन के हॉर्मोन बंद हो सकते हैं। थैंक्सगिविंग हफ्ते से पहले ही उसने परीक्षण करवाया व टेस्ट सकारात्मक था। इसके बाद लॉरेन व कीथ ने चिकित्सक से appointment ली लेकिन चिकित्सक के पास जाने से एक दिन पहले ही लॉरेन ने अपने अंदर से खून निकलते देखा। इस खून ने उसे परेशान कर दिया क्योंकि यह उसे पिछले गर्भपात की याद दिला रहा था।

लॉरेन का ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा हाई था
उसने बोला कि वह अपना प्रेग्नेंसी टेस्ट करवा चुकी थी। इससे पहले कि वह दोनों चिकित्सक के पास जाते उनकी साथ ऐसी घटना हो गई। किशोरावस्था में लॉरेन पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस), एनीमिया व ल्यूपस एंटीकायगुलेंट से पीड़ित थी। इस बार जब उसने खून देखा तो चिकित्सक के पास एक दिन पहले ही पहुंचने का निर्णय किया। डॉक्टर्स ने पाया कि लॉरेन का ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा हाई था। एक प्रसूति विशेषज्ञ (obstetrician) ने तुरंत उसका अल्ट्रासाउंड किया।

2 दिसंबर को चमत्कारी बच्चे को जन्म दियालॉरेन ने बोला कि उसे लगा कि वह चार या पांच महीने की प्रेग्नेंट हो सकती है लेकिन उसके बाद अल्ट्रासाउंड के दौरान स्क्रीन पर पेट के अंदर एक पूरा विकसित बच्चा दिखाई दे रहा था। वह व कीथ
इसे देख खौफ खा गए। जब चिकित्सक लौटा तो उसने उसी दिन बच्चे की डिलीवरी होने की बात कही। लॉरेन ने 2 दिसंबर को अपने चमत्कारी बच्चे को जन्म दिया। उसका नाम Wyatt Rivers रखा गया। नवजात शिशु का वजन लगभग 3 किलो था व वह छह दिनों के बाद अस्पताल से घर आया था।

इसे भी पढ़ेंः 

प्रेग्नेंसी को दौरान वह बिल्कुल बीमार नहीं पड़ीं
लॉरेन ने कहा- मुझे लगता है कि भगवान ने इस तरह से बच्चे के पैदा होने की योजना बनाई थी व कीथ भी इस बात से सेहमत है। लॉरेन ने बताया कि प्रेग्नेंसी को दौरान वह बिल्कुल बीमार नहीं पड़ीं। कई बार उन्हें पेट में हलचल महसूस होती थी लेकिन वह इसे सिर्फ गैस के गोले समझती थीं। पीसीओएस भी उनके दिमाग से दूर हो गया था। इस हालत के चलते लॉरेन को वर्षों से अनियमित पीरियड्स होते थे। लॉरेन ने बोला कि पीरियड्स मिस होना उनके लिए नॉर्मल था। इस तरह से बच्चे का पैदा होना उन्हें सरप्राइज नहीं करता क्योंकि PCOS मरीजों में इस तरह की घटनाएं सामान्य हैं। कुछ स्त्रियों में ये लक्षण दिखाई देते हैं तो कुछ में बिल्कुल नहीं।

Check Also

चेहरे से उम्र को मात देना चाहते हैं तो ये सिम्पल फेस योगा रहेगी फायदेमंद

एक कहावत भी है कि चेहरा देखकर ही उम्र का अंदाजा लगा लिया जाता है. …